हरियाणा में सीएम-डिप्‍टी सीएम के भरोसे चल रही सरकार, अब होगा पहला कैबिनेट विस्तार

हरियाणा में सरकार गठन के 17 दिन बाद भारतीय जनता पार्टी और जननायक जनता पार्टी के बीच मंत्रियों के नाम और विभागों को लेकर सहमति बन गई है.

हरियाणा में सरकार गठन के 17 दिन बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की मंत्रिपरिषद का गुरुवार को विस्तार होने वाला है. सूत्रों के मुताबिक गुरुवार को 11 बजे नए मंत्री शपथ ले सकते हैं. राज्य में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजे 24 अक्टूबर को आए थे.

जिसके बाद 27 अक्टूबर को जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के साथ गठबंधन कर बीजेपी ने सरकार बनाई थी. अभी तक सिर्फ मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के भरोसे ही राज्य की सरकार चल रही है. पूरी तरह कैबिनेट का गठन न होने की वजह से सरकार तेजी से काम नहीं पा रही है.

दरअसल जेजेपी और बीजेपी के बीच मंत्रिपदों की संख्या और विभागों का बंटवारा न होने के कारण मंत्रिपरिषद विस्तार में देरी हो रही थी. सूत्रों के मुताबिक बातचीत सुलझ जाने के बाद गुरुवार को मंत्रिपरिषद का विस्तार होगा.

इन विधायकों को मिल सकती है जगह

हरियाणा मंत्रीमंडल में कुछ पूर्व मंत्रियों तो कई नए विधायकों को जगह मिल सकती है. कैबिनेट में शामिल होने वाले जिन विधायकों के नाम आगे चल रहे हैं उनमें अनिल विज, कंवर पाल गुर्जर, सीमा त्रिखा, महिपाल ढांडा, घनश्याम सर्राफ और दीपक मंगला शामिल हैं.

वहीं, जननायक जनता पार्टी से से राम कुमार गौतम, ईश्वर सिंह या अनूप धानक की संभावना बताई जा रही है. निर्दलीयों में रंजीत चौटाला और बलराज कुंडू को मंत्रिमंडल में स्थान मिलने की उम्मीद है.

विभागों को लेकर बनी सहमति

सूत्रों के मुताबिक, भारतीय जनता पार्टी और जननायक जनता पार्टी के बीच मंत्रियों के नाम और विभागों को लेकर सहमति बन गई है. बीजेपी वित्त और उद्योग विभाग अपने पास रखेगी, जबकि कृषि, आबकारी एवं कराधान तथा टाउन एंड कंट्री प्लानिंग जेजेपी को दिए जा सकते हैं. दुष्यंत चौटाला की सहमति के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पार्टी हाईकमान को भी इससे सूचित कर दिया है.

ये भी पढ़ें-

‘ना आधी मिली ना पूरी’, महाराष्‍ट्र में शिवसेना की हालत पर शिवराज का तंज

बीजेपी-शिवसेना में सुलह के संकेत, राष्ट्रपति शासन के खिलाफ दूसरी अर्जी नहीं दाखिल करेंगे उद्धव