एक करोड़ की नौकरी ठुकराकर हरियाणा में चुनाव लड़ने आई लड़की की कहानी…

बेटियों की कम आबादी को लेकर पहचाने जाने वाले हरियाणा में 28 साल की नौक्षम आजकल चर्चा में हैं. वो पीएम मोदी की लोकप्रियता से काफी प्रभावित हैं.

बीजेपी ने हरियाणा की पुन्हामा सीट से विदेश में पढ़ी नौक्षम चौधरी को टिकट दिया है. नौक्षम ने वर्तमान विधायक रहीस खान को टिकट की जंग में पछाड़कर सबको आश्चर्य में डाल दिया है.

नौक्षम चौधरी की मां IAS ऑफिसर और पिता जज हैं. बेटियों की कम आबादी को लेकर पहचाने जाने वाले हरियाणा में 28 साल की नौक्षम आजकल चर्चा में हैं.

नौक्षम करीब 10 भाषाओं को बोलने में सक्षम हैं. उन्होंने ट्रिपल एमए किया है. उन्‍हें एक करोड़ रुपये की सैलरी वाली जॉब का ऑफर मिला था. इसके बावजूद नौक्षम ने हरियाणा की सबसे पिछड़ी सीटों में शामिल पुन्‍हाना से चुनाव लड़ने का फैसला किया है.

नौक्षम 25 अगस्त को अपने गांव पैमाखेड़ा से बीजेपी की सदस्य बनीं. दरअसल नौक्षम को राजनीति का चस्का तब लगा जब वो दिल्‍ली के मिरांडा हाउस कॉलेज में छात्रसंघ नेता रही थीं. नौक्षम तीन साल तक इटली और‍ ब्रिटेन में रही हैं. वो पीएम मोदी की लोकप्रियता से काफी प्रभावित हैं. उन्होंने कहा कि, ‘मेवात की बेटी अब इसके विकास के लिए काम करेंगी’.

नौक्षम ने बताया कि, ‘वो लंदन में एक कंपनी जॉइन करने वाली थी लेकिन जब वो अगस्त में अपने गांव गईं तो उन्हें लगा कि एक ओर वो विदेश में आराम की जिंदगी बिता रही हैं और गांव के लोग अभाव में जी रहे हैं. इसके बाद उन्होंने राजनीति में आने का फैसला किया और बीजेपी जॉइन की.’

ये भी पढ़ें- भिखारी की मौत के बाद उसकी झोपड़ी से मिले 1.77 लाख के सिक्के और 8.77 लाख की एफडी