सेना पर ये बीच चुनाव क्या बोल गए कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी?

सेना पर एक बयान ने फिर बवाल खड़ा कर दिया है और इस पर हंगामे के पीछे हैं कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी.

बेंगलुरु: कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने एक विवादित बयान दे डाला है. कुमारस्वामी ने कहा कि जिन लोगों के पास खाने के लिए नही होता वही डिफेंस ज्वाइन करते हैं. कुमारस्वामी के इस बयान पर बीजेपी ने कड़ी आपत्ति जाहिर की है.

बीजेपी ने कहा है कि कुमारस्वामी को पता होना चाहिए कि फौज में लोग देश से प्यार की वजह से जाते हैं. बीजेपी ने कुमारस्वामी से ये भी पूछा है कि, ‘आप अपने बेटे को आर्मी में भेजने की जगह सांसद क्यों बनाना चाहते हैं?आपको तो पता ही नहीं है कि आर्मी में जाने के लिए किस चीज की जरूरत होती है.’

रक्षा विशेषज्ञ जीडी बख्शी की भी कुमारस्वामी के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने कहा कि, ‘वो भरोसा नहीं कर पा रहे कि इतने अनुभवी नेता ने सेना पर ऐसा बयान दिया है.’

मोदी हिटलर से भी खराब
इनकम टैक्स की रेड से परेशान कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने मंगलवार को पीएम मोदी पर जमकर भड़ास निकाली थी. उन्होंने मोदी को तानाशाह हिटलर से भी खराब बताया था. उन्होंने कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी अब तक के सबसे खराब प्रधानमंत्री हैं. वो एक खराब व्यक्ति भी है. मोदी एक ऐसा विधेयक लेकर आये हैं जिसके जरिये लोगों की निजी संपत्ति जब्त की जा रही है.

इसलिए हैं खफा
कुमारस्वामी ने सत्ताधारी जद (एस) और कांग्रेस से कथित तौर पर जुड़े ठेकेदारों और कारोबारियों के यहां आयकर विभाग के छापे रोकने के लिए शनिवार को निर्वाचन आयोग से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया था. कुमारस्वामी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को लिखे पत्र में कहा- आयकर अधिकारी हमारे सहयोगियों से जुड़े लोगों के यहां लगातार छापे मार रहे हैं, लिहाजा मैं निर्वाचन आयोग से अपील करता हूं कि वह आयकर विभाग को निर्देश दे कि मोदी सरकार के दबाव में चलाए जा रहे तलाशी अभियान बंद करे.

जताया था विरोध
कुमारस्वामी ने आयकर विभाग के इन छापों के खिलाफ गुरुवार से शहर में स्थित आयकर विभाग के कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन भी किया था. इस दौरान उनके साथ उपमुख्यमंत्री जी. परमेश्वर सहित कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया और कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव व सैकड़ों समर्थन मौजूद थे.