ayodhya case could be the second longest ever, अयोध्या मामला भारत के न्यायिक इतिहास में दूसरा सबसे लंबा केस!
ayodhya case could be the second longest ever, अयोध्या मामला भारत के न्यायिक इतिहास में दूसरा सबसे लंबा केस!

अयोध्या मामला भारत के न्यायिक इतिहास में दूसरा सबसे लंबा केस!

केशवानंद भारती मामला भारत के न्यायिक इतिहास में संबसे लंबे समय तक चलने वाला केस है, जिसमें लगातार ... दिनों तक सुनवाई चलती रही थी.
ayodhya case could be the second longest ever, अयोध्या मामला भारत के न्यायिक इतिहास में दूसरा सबसे लंबा केस!

अयोध्या मामले में अगर सबकुछ ठीक रहा तो यह देश की न्यायिक इतिहास में लंबे समय तक चलने वाला दूसरा केस होगा. सुप्रीम कोर्ट ने राजनीतक दृष्टि से संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले की सुनवाई पूरी करने के लिये बुधवार को 18 अक्टूबर तक की समय सीमा निर्धारित कर दी है.

शीर्ष अदालत के इस कदम से 130 साल से भी अधिक पुराने अयोध्या विवाद में मध्य नवंबर तक फैसला आने की संभावना है.

शीर्ष अदालत ने यह भी कहा कि पक्षकार चाहें तो मध्यस्थता के माध्यम से इस विवाद का सर्वसम्मत समाधान कर सकते हैं परंतु उसने दोनों ही पक्षों के वकीलों से कहा कि वह चाहती है कि इस मामले की रोजाना हो रही सुनवाई 18 अक्टूबर तक पूरी की जाये ताकि न्यायाधीशों को फैसला लिखने के लिये करीब चार सप्ताह का समय मिल सके.

संविधान पीठ के अन्य सदस्यों में न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजर शामिल हैं.

पीठ ने मंगलवार को हिन्दू और मुस्लिम पक्षकारों के वकीलों से उनकी बहस पूरी करने के लिये अनुमानित समय के बारे में जानकारी मांगी थी.

शीर्ष अदालत इस समय अयोध्या में 2.77 एकड़ विवादित भूमि को सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लला के बीच बराबर-बराबर बांटने के इलाहाबाद उच्च न्यायालय के सितंबर, 2010 के फैसले के खिलाफ दायर अपीलों पर सुनवाई कर रही है.

बता दें कि केशवानंद भारती मामला भारत के न्यायिक इतिहास में संबसे लंबे समय तक चलने वाला केस है. वहीं आधार मामले में सुप्रीम कोर्ट में 38 दिनों तक सुनवाई चली थी. 18 अक्टूबर तक अयोध्या मामले में सुनवाई होने के बाद 42 दिनों की सुनवाई पूरी हो जाएगी. यानी यह दूसरा सबसे लंबे समय तक सुनवाई वाला केस होगा.

केशवानंद भारती मामला

केशवानंद भारती केरल के इडनीर नाम के हिंदू मठ के मुखिया थे. केरल सरकार ने भूमि सुधार कानून बनाकर मठ मैनेजमेंट पर पाबंदियां लगाने की कोशिश की थी. केशवानंद भारती ने कोर्ट का दरवाजा खटखटा कर केरल सरकार को चुनौती दी थी.

ayodhya case could be the second longest ever, अयोध्या मामला भारत के न्यायिक इतिहास में दूसरा सबसे लंबा केस!
ayodhya case could be the second longest ever, अयोध्या मामला भारत के न्यायिक इतिहास में दूसरा सबसे लंबा केस!

Related Posts

ayodhya case could be the second longest ever, अयोध्या मामला भारत के न्यायिक इतिहास में दूसरा सबसे लंबा केस!
ayodhya case could be the second longest ever, अयोध्या मामला भारत के न्यायिक इतिहास में दूसरा सबसे लंबा केस!