मजदूरों के लिए 3200 करोड़ की सहायता राशि में धांधली पर दिल्ली HC में सुनवाई, केंद्र और राज्य को नोटिस

याचिका में आरोप लगाए गए थे कि दिल्ली (Delhi) में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान फंसे रजिस्टर्ड निर्माण मजदूरों की मदद के लिए जारी 3200 करोड़ रुपए के कल्याण कोष में हेराफेरी की गई थी.
Hearing in Delhi HC notice to Center and state, मजदूरों के लिए 3200 करोड़ की सहायता राशि में धांधली पर दिल्ली HC में सुनवाई, केंद्र और राज्य को नोटिस

दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi HC) ने मजदूरों की सहयाता के लिए दी जाने वाली राशि में घोटाले के आरोप वाली याचिका पर सुनवाई की है. सुनवाई के बाद कोर्ट ने सुनवाई करते हुए दिल्ली और केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया हैं. जस्टिस विपिन सांघी और रजनीश भटनागर की खंडपीठ ने इस मामले पर सुनवाई की है.

3200 करोड़ रुपए की हेराफेरी

दरअसल, दीनदयाल उपाध्याय स्मृति संस्थान की ओर से कोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई थी, जिसमें आरोप लगाए गए थे कि दिल्ली (Delhi) में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान फंसे पंजीकृत निर्माण श्रमिकों की मदद के लिए जारी 3200 करोड़ रुपए के कल्याण कोष में हेराफेरी की गई थी. इतना ही नहीं सांठगांठ कर मजदूरों के हक का पैसा दूसरे लोगों में बांट दिया गया था.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

मजदूरों तक नहीं पहुंचा पैसा

याचिका में कहा गया कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने हर एक पंजिकृत बेरोजगार मजदूर को 5000 रुपए की आर्थिक मदद देने का एलान किया था, लेकिन जब संस्था के वॉलंटियर्स ने जानकारी इकट्ठा की तो पता चला कि मजदूरों तक पैसा पहुंचा ही नहीं.

याचिका में CBI जांच की मांग

याचिका में आगे कहा गया कि दिल्ली हाईकोर्ट मामले में CBI जांच और ट्रांसफर की गई सहायता राशि का ऑडिट करवाने का निर्देश दे, जिस पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र (Central Government) और दिल्ली सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. वहीं कोर्ट अब इस मामले पर अगली सुनवाई 2 जून को करेगी.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts