• Home  »  देश   »   J&K : उपराज्यपाल की घोषणा, गरीब मरीजों को सरकारी हेलीकॉप्टर से मिलेगी इमरजेंसी एयरलिफ्ट

J&K : उपराज्यपाल की घोषणा, गरीब मरीजों को सरकारी हेलीकॉप्टर से मिलेगी इमरजेंसी एयरलिफ्ट

जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में बर्फ और पहाड़ी इलाकों के चलते दुर्गम इलाकों में मरीजों तक स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाना एक चुनौती है. उपराज्यपाल (Lieutenant Governor) ने राजभवन के हेलीकॉप्टर से ऐसे इलाकों में गरीब मरीजों को इमरजेंसी एयरलिफ्ट की सुविधा देने की इजाजत दे दी है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 12:43 am, Sat, 17 October 20
file photo

जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा (Lieutenant Governor Manoj Sinha) ने राजभवन के हेलीकॉप्ट को राज्य के दूरस्थ इलाकों में गरीब मरीजों की देखभाल के लिए इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. राजभवन के हेलीकॉप्टर का निशुल्क इस्तेमाल अब मरीजों को इमरजेंसी एयरलिफ्ट की सुविधा देने में किया जा सकेगा. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के सूचना और जनसंपर्क विभाग ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी.

जानकारी के अनुसार ये हेलीकॉप्टर गरीबी रेखा से नीचे के मरीजों को इमरजेंसी एयरलिफ्ट की सुविधा देंगे. जो मरीज दोनों डिविजनल कमिश्नर के पास उपलब्ध हेलीकॉप्टर सेवा का फायदा सब्सिडी रेट पर नहीं उठा सकते, उन मरीजों को भी राजभवन के हेलीकॉप्टर मेडिकल हेल्प करेंगे.

यह भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर: हत्यारों को बख्शा नहीं जाएगा, बीडीसी अध्यक्ष की हत्या पर बोले उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

जम्मू कश्मीर एक ऐसा राज्य है, जहां पहाड़ी इलाके और बर्फ से ढके रास्ते ज्यादा है. स्थानीय लोगों को अक्सर मूलभूत जरूरतों या सवारी के लिए कई किलोमीटर के पैदल रास्ते को तय करना पड़ता है. ऐसे में दूर-दराज इलाकों में मरीजों तक इलाज और स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाना कई बार एक चुनौती साबित होता है.

बता दें कि मनोज सिन्हा हाल ही में केंद्र शासित प्रदेश के उपराज्यपाल नियुक्त किए गए हैं, जिसके बाद से वो राज्य के अलग-अलग इलाकों में जाकर स्थानीय लोगों की समस्याओं का जायजा ले रहे हैं और उनका समाधान कर रहे हैं.

4 किमी पैदल चले उपराज्यपाल

इससे पहले 9 अक्टूबर को जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल शोपियां एनकाउंटर में मारे गए युवकों के परिवारवालों से मुलाकात करने के लिए राजौरी गए थे. पहाड़ी रास्ता होने के चलते उनके गांव तक गाड़ी नहीं जा सकती थी, जिसके बाद एलजी मनोज सिन्हा ने 4 किलोमीटर का पैदल सफर तय किया और गांव पहुंचकर पीड़ित परिवारों को इंसाफ का भरोसा दिलाया.

यह भी पढ़ें : माता वैष्णो देवी के दरबार पहुंचे जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा