हर्ड इम्यूनिटी से खत्म नहीं होगी महामारी, वैक्सीन है जरूरी, भारत की होगी अहम भूमिका: बिल गेट्स

माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft ) के संस्थापक और बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन (Bill & Melinda Gates Foundation -BMGF)) के को-फाउंडर बिल गेट्स (Bill Gates) ने कहा है कि हर्ड इम्यूनिटी (Herd immunity) से कोरोना महामारी खत्म नहीं होगी.
Covid-19, हर्ड इम्यूनिटी से खत्म नहीं होगी महामारी, वैक्सीन है जरूरी, भारत की होगी अहम भूमिका: बिल गेट्स

माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft ) के संस्थापक और बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन (Bill & Melinda Gates Foundation -BMGF)) के को-फाउंडर बिल गेट्स (Bill Gates) ने कहा है कि हर्ड इम्यूनिटी (Herd immunity) से कोरोना महामारी खत्म नहीं होगी, इसके लिए वैक्सीन (Vaccine) जरूरी है.उन्होंने यह भी कहा है कि वैक्सीन में भारतीय दवा उद्योग की बड़ी अहम भूमिका होगी, क्योंकि भारत में कम कीमत पर अच्छी गुणवत्ता की वैक्सीन का उत्पादन बड़े पैमाने पर करने की क्षमता है.

बिल गेट्स ने अंग्रेजी अखबार हिन्दुस्तान टाइम्स को दिए एक ईमेल इंटरव्यू में कोरोना महामारी और इसकी वैक्सीन उत्पादन को लेकर कई बातें कहीं.

वैक्सीन कोरोना वायरस से हमेशा के लिए सुरक्षित कर पाएगी? इस सवाल के जवाब में बिल गेट्स ने कहा कि यह अनुमान लगाना काफी जल्दबाजी होगी. इस समय हमारे पास एंटीबॉडी की अवधि और टी सेल रिस्पॉन्स को लेकर अधिक डेटा नहीं है.कई वैक्सीन कंपनियों का ट्रायल चल रहा है और अगले कुछ महीनों में वे इसके प्रभाव को लेकर अवगत करा देंगे.तभी इन सवालों का जवाब मिल पाएगा. उन्होंने कहा कि अभी अच्छी खबर यह है कि कई सारी वैक्सीन के ट्रायल चल रहे हैं.

वैक्सीन उत्पादन में भारत की होगी अहम भूमिका

वैक्सीन उत्पादन में भारत के योगदान का जिक्र करते हुए बिल गेट्स ने कहा कि भारतीय दवा उद्योग और वैक्सीन उत्पादकों की भूमिका काफी अहम होगी, क्योंकि उनमें कम कीमत पर अच्छी गुणवत्ता के साथ बड़े पैमाने पर वैक्सीन उत्पादन करने की क्षमता है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (serum institute of india) इसका एक उदाहरण है, जहां दुनिया की किसी अन्य कंपनी से अधिक उत्पादन होता है.

बिल गेट्स ने कहा कि उनके फाउंडेशन बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन (बीएमजीएफ) ने हाल ही में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को फंड देने की घोषणा की है ताकि वह अपनी क्षमता का विस्तार करते हुए निम्न और मध्यम आय वर्ग वाले देशों के लिए 2021 तक 10 करोड़ टीकों का उत्पादन कर सके. बिल गेट्स ने बताया कि

सीरम इंस्टीट्यूट ने इस बात पर सहमित दी है कि इसके वैक्सीन की कीमत प्रति डोज 3 डॉलर से अधिक नहीं होगी. वहीं उन्होंने बताया कि उनका फाउंडेशन कई और भारतीय कंपनियों के साथ काम कर चुका है.

बिल गेट्स ने बताया वैक्सीन क्यों है जरूरी

कोरोना महामारी बिना वैक्सीन के खत्म होने और हर्ड इम्यूनिटी के सवाल पर बिल गेट्स ने कहा कि जब लोग महामारी के प्रबंधन के लिए हर्ड इम्यूनिटी की बात करते हैं तो वे दो चीजों पर ध्यान नहीं देते.पहला यह कि लोगों को हर्ड इम्यूनिटी प्राप्त होने तक लोगों को बीमार होते रहने से लाखों करोड़ों लोगों की मौत हो जाएगी.

दूसरा यह कि हर्ड इम्यूनिटी हमेशा अस्थायी होती है, क्योंकि बच्चे बिना इम्यूनिटी के पैदा होते हैं और बीमारी कभी भी फिर से आसानी से फैल सकती है. दोनों ही वजहों से इसकी वैक्सीन अहम है.बिल गेट्स ने कहा कि वैक्सीन लोगों की जिंदगी बचाएगी और आने वाली पीढ़ियों को फिर से ऐसे अनुभव से नहीं गुजरना पड़ेगा.

Related Posts