दीदी के गढ़ में बोले अमित शाह, ‘हिंदू, सिख और ईसाई को छोड़ सभी घुसपैठियों को चुन-चुनकर बाहर भेजूंगा’

शाह कोलकाता नेताजी इंडोर स्टेडियम में संबोधित कर रहे हैं. उन्होंने संबोधन की शुरुआत प. बंगाल की जनता को भारतीय जनता पार्टी (BJP) को 300 सीटों के आंकड़ों के पार ले जाने के लिए धन्यवाद देते हुए की.
अमित शाह, दीदी के गढ़ में बोले अमित शाह, ‘हिंदू, सिख और ईसाई को छोड़ सभी घुसपैठियों को चुन-चुनकर बाहर भेजूंगा’

कोलकाता: एनआरसी पर जनजागरण नाम के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) प. बंगाल पहुंचे हुए हैं. शाह कोलकाता नेताजी इंडोर स्टेडियम में संबोधित कर रहे हैं. उन्होंने संबोधन की शुरुआत प. बंगाल की जनता को भारतीय जनता पार्टी (BJP) को 300 सीटों के आंकड़ों के पार ले जाने के लिए धन्यवाद देते हुए की.

अमित शाह के भाषण के मुख्य बातें

1- इसके बाद अमित शाह ने एनआरसी पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि हिंदू,सिख और ईसाई लोगों को देश से बाहर नहीं जाना होगा. बाकी जितने भी घुसपैठियां होंगे उनको चुन चुनकर बाहर निकाला जाएगा.
2-  2014 में सिर्फ 2 सीटें मिली थीं, लेकिन आज, पश्चिम बंगाल में हमारे पास 18 सीटें हैं. हमें 40% वोट मिले हैं. लगभग 2.5 करोड़ बंगालियों ने हमें वोट दिया है.
3- पश्चिम बंगाल की जनता अगर परिवर्तन नहीं करती तो भाजपा 300 सीटों से ज्यादा जीतने का लक्ष्य पूरा नहीं कर पाती. इस लोकसभा चुनाव में बंगाल में भाजपा को 18 सीटों पर जीत मिली है. अब आने वाले चुनाव में यहां निश्चित रूप से भाजपा की सरकार बनने वाली है.
4- इसी बंगाल के सपूत डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी ने नारा लगाया था कि एक देश में दो प्रधान, दो विधान और दो संविधान नहीं चलेंगे. भारत मां के इस महान सपूत को गिरफ्तार किया गया था और रहस्यमय तरीके से उनकी मृत्यु हो गई.
5- श्यामा प्रसाद जी की शहादत के बाद कांग्रेस को लगा कि मामला अब समाप्त हो गया, लेकिन उन्हें पता नहीं कि हम भाजपा वाले हैं किसी चीज को पकड़ते हैं तो फिर उसे छोड़ते नहीं हैं. आपने इस बार भाजपा सरकार बनाई और हमने एक ही झटके में 370 को उखाड़कर फेंक दिया.
6- भाजपा सरकार एनआरसी के पहले सिटिजन अमेंडमेंट बिल लाने वाली है, इस बिल के तहत भारत में जितने भी हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, ईसाई शरणार्थी आये हैं उन्हें हमेशा के लिए भारत की नागरिकता दी जाने वाली है.
7- मैं आपको स्पष्ट कहना चाहता हूं कि हम एनआरसी ला रहे हैं, उसके बाद हिंदुस्तान में एक भी घुसपैठिए को रहने नहीं देंगे, उन्हें चुन-चुनकर बाहर करेंगे.
8- विभाजन के दौरान दवाओं का उत्पादन 70% था, और यह आज घटकर 6% से नीचे आ गया है. बैंक जमा 22% थे, लेकिन आज, यह सिर्फ 6.3% है. क्या हमारा सपना सोनार बांग्ला का था?
9- मैं पार्टी के हर कार्यकर्ता से अपील करता हूं कि वे हर बंगाली तक पहुंचें और उन्हें नागरिकता संशोधन विधेयक और NRC समझाएं. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि इसे राज्य में लागू किया जाए, और सभी घुसपैठियों को उनके सही स्थान पर वापस भेजा जाए.
10- मैं ममता दी और टीएमसी सरकार से कहना चाहता हूं कि आप हमें जितना चाहें रोक सकते हैं, लेकिन पीएम मोदी के नेतृत्व को न केवल भारत ने स्वीकार किया है, इसे दुनिया ने भी स्वीकार किया है और बंगाल ने भी.

Related Posts