जम्मू-कश्मीर के 122 कैदियों को होम मिनिस्टर अमित शाह का तोहफा, ईद पर परिवार से करवाई बात

गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने इसे मंत्रालय की तरफ से ईद के मौके पर कैदियों के लिए एक गुड विल पहल बताया है. अधिकारी ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने हाल ही में कश्मीरी कैदियों की एक सूची तैयार करने के निर्देश जारी किए थे.
Home minister Amit Shah's gift to 122 prisoners, जम्मू-कश्मीर के 122 कैदियों को होम मिनिस्टर अमित शाह का तोहफा, ईद पर परिवार से करवाई बात

देश के अलग-अलग राज्यों की जेलों में बंद जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के 122 कैदियों (Prisoners) को इस ईद पर गृह मंत्रालय (Home Minister) की तरफ से जो तोहफा मिला, उससे शायद उनकी ईद (Eid) में कुछ मिठास आई हो. मंत्रालय ने इन 122 कैदियों को ईद के मौके पर फोन के जरिए अपने-अपने घर बात करने की अनुमति दी है.

गृह मंत्री अमित शाह की पहल

ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने इसे मंत्रालय की तरफ से ईद के मौके पर कैदियों के लिए एक गुड विल पहल बताया है. एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने हाल ही में कश्मीरी कैदियों की एक सूची तैयार करने के निर्देश जारी किए थे, जो विभिन्न जेलों में सलाखों के पीछे हैं, ताकि उनको यह रियायत दी जा सके.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

तीन राज्यों की जेल में बंद हैं जम्मू-कश्मीर के कैदी

कुल मिलाकर, तीन राज्यों, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली की जेलों में बंद 122 कैदियों को अपने परिवार के सदस्यों से बात करने की अनुमति दी गई. अधिकारियों ने कहा अलग-अलग अपराधों के लिए इनमें से 106 उत्तर प्रदेश के 6 जेल में, जबकि 15 अन्य हरियाणा और एक दिल्ली में की जेल में बंद है. हालांकि आतंकवाद से जुड़े केस के कैदियों को यह छूट नहीं दी गई थी.

अधिकारी ने कहा, “कश्मीर में कैदियों और उनके परिवारों के जीवन में कुछ खुशियां लाने का यह एक प्रयास था. अन्य कैदियों की तरह कश्मीर के कैदी अपने परिवार वाले से नहीं मिल पाते हैं.” इसका यह भी अर्थ है कि ऐसे लोग जो आतंकवाद से संबंधित मामलों में आरोपी नहीं हैं, सरकार उनके लिए सहानुभूति दिखाते हुए और कई रियायत देने को तैयार है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts