अध्‍यक्ष पद छोड़ दिया तो CWC का हिस्‍सा कैसे बने रहे राहुल गांधी?

कांग्रेस की आधिकारिक वेबसाइट कहती है कि राहुल 24 सदस्‍यीय CWC के सदस्‍य हैं, मगर अध्‍यक्ष पद त्‍यागने के बाद वह CWC में कैसे आए, इसका जवाब अभी नहीं मिला है.
CWC, अध्‍यक्ष पद छोड़ दिया तो CWC का हिस्‍सा कैसे बने रहे राहुल गांधी?

राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्‍यक्ष पद से लोकसभा चुनाव के ठीक बाद इस्‍तीफा दे दिया था. तब गांधी ने कहा था कि वह एक सामान्‍य कार्यकर्ता के रूप में पार्टी की सेवा करना चाहते हैं. हालांकि वह पार्टी की टॉप डिसिजन मेकिंग बॉडी CWC का हिस्‍सा किस तरह बने रहे, यह स्‍पष्‍ट नहीं हो पा रहा.

कांग्रेस की आधिकारिक वेबसाइट कहती है कि राहुल 24 सदस्‍यीय CWC के सदस्‍य हैं. हालांकि पार्टी के संविधान में अध्‍यक्ष के पद त्‍यागने के बाद अपने आप CWC का सदस्‍य बन जाने की कोई व्‍यवस्‍था नहीं है.

CWC पर क्‍या कहता है कांग्रेस का संविधान

कांग्रेस के संविधान का आर्टिकल 19 कहता है, “वर्किंग कमेटी में कांग्रेस अध्‍यक्ष, संसद में कांग्रेस पार्टी के नेता और 23 अन्‍य सदस्‍य होंगे, जिनमें से 12 का चुनाव AICC करेगी. बाकी का चयन अध्‍यक्ष करेंगे.” ‘नॉर्मल रूट’ ये होता कि कांगेस अध्‍यक्ष यह घोषणा करते कि उन्‍हें (राहुल) CWC के लिए नामित किया गया है.

राहुल गांधी बिना किसी औपचारिक नामांकन के सीडब्‍ल्‍यूसी सदस्‍य कैसे बने? इस सवाल पर द इकॉनमिक टाइम्‍स से AICC के एक सदस्‍य ने कहा, “सोनिया जी के अंतरिम अध्‍यक्ष बनने के बाद से सीडब्‍ल्‍यूसी की बैठक नहीं हुई है. हम CWC मीटिंग में क्‍लैरिफिकेशन दे सकते हैं.”

जब 2017 में राहुल गांधी अध्‍यक्ष बने थे तो सोनिया गांधी सीडब्‍ल्‍यूसी सदस्‍य बनी रहीं क्‍योंकि वह संसद में पार्टी की नेता थीं. ऐसे ही नरसिम्‍हा राव भी CWC में रहे, जब तक उन्‍हें सीताराम केसरी के नेतृत्‍व वाली सीडब्‍ल्‍यूसी ने बाहर नहीं कर दिया. केसरी को निकाले जाने के बाद, सोनिया गांधी ने राव और केसरी को औपचारिक नामांकन के जरिए CWC का सदस्‍य बनाया.

ये भी पढ़ें

कांग्रेस को है कांग्रेस से खतरा, मंत्रियों और विधायकों को लेकर पार्टी नेता ने सोनिया-राहुल को लिखी चिट्ठी

मोदी जी को गाली देते-देते अब देश को गाली देने लगे हैं राहुल गांधी: गिरिराज सिंह

Related Posts