मूसलाधार बारिश और शरद पवार… वो मराठा जिसने फिर बदल दी महाराष्‍ट्र में सियासत की सूरत

राजनीति के पुराने खिलाड़ी शरद पवार ने बीजेपी के 'ऑपरेशन कमल' को नाकाम कर दिया.
Sharad Pawar Rain Photo, मूसलाधार बारिश और शरद पवार… वो मराठा जिसने फिर बदल दी महाराष्‍ट्र में सियासत की सूरत

शरद पवार. वो मराठा जिसने 41 साल पहले तख्‍तापलट कर खुद को महाराष्‍ट्र का सबसे युवा मुख्‍यमंत्री बना दिया था. राजनीति के पुराने खिलाड़ी शरद पवार ने खुद वैसा ही कारनामा 2019 में किया है. बीजेपी के ‘ऑपरेशन कमल’ को नाकाम कर दिया. और तो और, भतीजे अजित पवार का विधायकों को लाने का दावा भी दावा ही रह गया.

सतारा रैली की है वो फोटो

18 अक्‍टूबर 2019. सतारा में शरद पवार की रैली थी. भारी बारिश हो रही थी मगर पवार का जज्‍बा बरकरार था. वो भीगते हुए भाषण देते रहे. शरद पवार की ये तस्‍वीर NCP कार्यकर्ताओं के लिए प्रेरणा बन गई. पवार की जैसी छवि रही है, उसे इस तस्‍वीर ने और पुख्‍ता ही किया. इन्‍हीं चुनाव में बाएं पैर पर पट्टी बांधे शरद पवार की तस्‍वीर भी वायरल हुई.

तीन बार मुख्यमंत्री और कई बार केंद्रीय मंत्री रह चुके शरद पवार ने NCP को फिर से महाराष्‍ट्र में खड़ा किया. 2014 में UPA चुनाव हारा और NCP भी किनारे होती चली गई. 24 अक्टूबर, 2019 को विधानसभा के नतीजे आए और शरद पवार एक बार फिर महाराष्ट्र की राजनीति की धुरी बन गए.

Sharad Pawar Rain Photo, मूसलाधार बारिश और शरद पवार… वो मराठा जिसने फिर बदल दी महाराष्‍ट्र में सियासत की सूरत

पवार ने शिवसेना नेताओं और उद्धव ठाकरे से होटल ट्राइडेंट में मिलने से लेकर बाकी सभी राजनीतिक गतिविधियों की निगरानी की. सरकार गठन पर सोनिया की सहमति के लिए वह दिल्ली में उनसे दो बार मिले.

लुटियंस दिल्ली में उनका घर 6, जनपथ नई महाराष्ट्र सरकार के गठन पर पिछले कुछ दिनों से व्यस्त राजनीतिक गतिविधियों का केंद्र रहा. जब दिल्ली में न्यूनतम कार्यक्रम पर चर्चा की गई, तो ध्यान पवार के मुंबई के सिल्वर ओक में स्थानांतरित हो गया.

ये भी पढ़ें

दो पवार, दो धोखे और महाराष्‍ट्र में तीन दिन में दो ‘सरकार’

उद्धव ठाकरे ने की थी सामना से सियासत की शुरुआत

Related Posts