पासपोर्ट के मामले में पाकिस्तान का हाल बेहाल, भारत की स्थिति बेहतर

दुनिया भर में सबसे कम असरदार पासपोर्ट के मामले में पाकिस्तान चौथे नंबर पर है, भारत की स्थिति पाकिस्तान के मुकाबले बेहतर ही है. शक्तिशाली पासपोर्ट जापान का रहा.

भारत के खिलाफ जहर उगलने  और आंतक को पनाह देने वाले पाकिस्तान के लिए बुरी खबर है. पाकिस्तान को पासपोर्ट के मामले में सबसे खराब घोषित किया गया है. हेनली पासपोर्ट इंडेक्स (Hanley Passport Index) में पाकिस्तान के पासपोर्ट को दुनिया का चौथा सबसे खराब पासपोर्ट घोषित किया गया है. पाकिस्तान को अफगानिस्तान, इराक और सीरिया के बाद चौथा सबसे खराब पासपोर्ट वाला देश कहा गया है. पाकिस्तान के ठीक नीचे सोमालिया और यमन हैं. पाकिस्तान 107 रैंकिंग्स के इस इंडेक्स में 104 नंबर पर है.

पासपोर्ट के प्रभावी होने के आधार पर इनकी रैंकिंग करने वाले अंतर्राष्ट्रीय संस्थान हेनले पासपोर्ट के इंडेक्स के मुताबिक, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सबसे खराब पासपोर्ट के मामले में पाकिस्तानी पासपोर्ट और सोमालिया का पासपोर्ट संयुक्त रूप से चौथे नंबर पर है. इससे खराब हालत केवल अफगानिस्तान (पहला स्थान), इराक (दूसरा स्थान) और सीरिया (तीसरा स्थान) के पासपोर्टों की है.

हालांकि सबसे प्रभावशाली पांच पासपोर्ट में जापान, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, जर्मनी (संयुक्त रूप से तीसरे नंबर पर),  फिनलैंड का पासपोर्ट शामिल है.  स्पेन, लग्जमबर्ग, डेनमार्क के पासपोर्ट सबसे प्रभावशाली पासपोर्ट के मामले में संयुक्त रूप से पांचवें स्थान पर हैं.

भारत की स्थिति पाकिस्तान के मुकाबले तो बेहतर  है. जहां पाकिस्तान नीचे से चौथे पायदान पर है, तो भारत ऊपर से 84वां रैंक है और भारत के पास कुल प्वाइंट्स 58 हैं.

क्या है  हेनले पासपोर्ट इंडेक्स?

दुनिया के विभिन्न देशों के पासपोर्ट कितने ताकतवर हैं इस बात का पता इनकी रैंकिंग से चलता है. इस साल हेनले पासपोर्ट इंडेक्स 2019 की सूची में टॉप पर जापान और सिंगापुर रहे हैं जिस देश के पासपोर्ट से बिना वीजा सबसे अधिक देशों में आने-जाने की छूट होती है, उसे ही सबसे ताकतवर वीजा माना जाता है. इस सूची में 199 देशों को शामिल किया गया है.

 

ये भी पढ़ें-     कश्मीर में आतंक फैलाने की साजिश का पर्दाफाश, सुरक्षा एजेंसियों ने पकड़े इंटरसेप्ट

Nirbhaya Case: दिखाया जाए चारों दोषियों की फांसी का Live टेलीकास्ट, NGO की मांग

 

Related Posts