जानें क्‍या है भारत-अमेरिका के बीच होने वाला 2+2 डायलॉग? इन मुद्दों पर होगी बातचीत

भारत की तरफ से रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर इस बातचीत में हिस्सा लेंगे. भारत-अमेरिका ‘टू प्लस टू’ वार्ता में दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंधों के सभी पहलुओं का जायजा लिया जायेगा.

अमेरिका (United States) और भारत (India) के बीच मंत्रीस्तर की ‘टू प्लस टू’ (2+2) वार्ता 18 दिसंबर को वाशिंगटन में होगी. भारत की तरफ से रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) और विदेश मंत्री एस जयशंकर (Foreign Minister S Jaishankar) इस बातचीत में हिस्सा लेंगे.

बता दें कि भारत-अमेरिका ‘टू प्लस टू’ वार्ता में दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंधों के सभी पहलुओं का जायजा लिया जायेगा.

अमेरिका की शीर्ष राजनयिक एलिस जी वेल्स ने इस डायलॉग के बारे में बताते हुए कहा है कि वार्ता में मानवाधिकारों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा नहीं की जाएगी लेकिन कश्मीर से संबंधित मुद्दों पर बात होगी.

वेल्स ने कहा कि कश्मीर की स्थिति पर अमेरिका करीबी नजर रख रहा है और वह भारत सरकार से उम्मीद करता है कि वह हिरासत में लिए लोगों को रिहा करने तथा राजनीतिक एवं आर्थिक हालात सामान्य बनाने के लिए अतिरिक्त कदम उठाएगी जिससे स्थानीय तनाव कम करने में मदद मिलेगी.

उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि सीमा पार सक्रिय आतंकवादी समूहों के कारण भारत को गंभीर सुरक्षा स्थिति का सामना करना पड़ता है लेकिन कश्मीरी लोग भारतीय संविधान के तहत पूर्ण अधिकारों के हकदार हैं और संविधान में सभी भारतीयों की धार्मिक आजादी के लिए सम्मान का प्रावधान है.

बता दें कि ‘टू प्लस टू’ (2+2) भारत-अमेरिका वार्ता पहली बार पिछले साल सितंबर में भारत में हुई थी.

ये भी पढ़ें-

UK General Election 2019: बोरिस जॉनसन की ऐतिहासिक जीत? कंजरवेटिव पार्टी को स्‍पष्‍ट बहुमत के आसार

पर्यावरण ऐक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग को राष्ट्रपति ट्रंप की सलाह, कहा- गुस्से पर काबू पाना चाहिए…

Related Posts