हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले CJI बोबडे- बदले से न्याय अपना चरित्र खो देता है

CJI शरद अरविंद बोबडे ने कहा कि "अगर बदला लेना न्याय बन जाए तो न्याय न्याय नहीं रहेगा, बदले से न्याय अपना चरित्र खो देता है."
CJI SA Bobde on Hyderabad Encounter, हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले CJI बोबडे- बदले से न्याय अपना चरित्र खो देता है

हैदराबाद एनकाउंटर पर भारत के प्रधान न्‍यायाधीश (CJI) ने इशारों में टिप्‍पणी की है. CJI शरद अरविंद बोबडे ने कहा कि “अगर बदला लेना न्याय बन जाए तो न्याय न्याय नहीं रहेगा, बदले से न्याय अपना चरित्र खो देता है.” वह राजस्‍थान हाई कोर्ट की नई बिल्डिंग के उद्घाटन के मौके पर बोल रहे थे.

इसी कार्यक्रम में केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि “देश की महिलाएं बेहद दर्द और परेशानी में हैं. वे न्‍याय के लिए रो रही हैं. भारत की न्‍यायपालिका को आगे आने की जरूरत है. यही मेरी अपील है.”

हैदराबाद की डॉक्‍टर से रेप और हत्‍या के चार आरोपी 6 दिसंबर को पुलिस मुठभेड़ में मार गिराए गए थे. पुलिस का कहना था कि क्राइम सीन रीक्रिएट करते समय, आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीन लिए और उनपर फायरिंग करने लगे, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में चारों को मार गिराया गया.

हैदराबाद एनकाउंटर की जांच अब राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) कर रहा है. चार अभियुक्तों की पहचान लॉरी चालक मोहम्मद आरिफ (26) और चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुलु (20) और लॉरी क्लीनर जोलू शिवा (20) और जोलू नवीन (20) के रूप में हुई है. सभी तेलंगाना के नारायणपेट जिले के रहने वाले थे.

ये भी पढ़ें

उन्नाव रेप पीड़िता के पिता और भाई की मांग, “आरोपियों का हो एनकाउंटर या मिले फांसी”

उन्नाव केस : दबंगई और पुलिस की लापरवाही के बावजूद पीड़‍िता की हिम्‍मत नहीं टूटी, वकील ने खोले राज

Related Posts