‘जांच होनी चाहिए एनकाउंटर असली था या नहीं’, हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले चिदंबरम, पढ़ें किसने क्‍या कहा

क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए आरोपियों को मौके पर ले जाया गया था. आरोपियों ने भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस ने उन्हें मार गिराया.
Hyderabad Rapist Encounter, ‘जांच होनी चाहिए एनकाउंटर असली था या नहीं’, हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले चिदंबरम, पढ़ें किसने क्‍या कहा

हैदराबाद कांड के चारों आरोपी पुलिस एनकाउंटर में मार गिराए गए हैं. आरोपी शुक्रवार तड़के तब मारे गए, जब उन्होंने हैदराबाद से करीब 50 किलोमीटर दूर शादनगर के पास चटनपल्ली से भागने की कोशिश की. उन्हें उसी स्थान पर गोलियों से भून दिया गया, जहां 27 नवंबर की रात को पीड़िता के साथ दरिंदगी करने का आरोप है. पुलिस के मुताबिक, क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए आरोपियों को मौके पर ले जाया गया था. आरोपियों ने भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस ने उन्हें मार गिराया.

इस एनकाउंटर की खबर आने के बाद, कई जगह जश्‍न मनाया जा रहा है. सोशल मीडिया पर भी मामले से जुड़े ट्रेंड्स टॉप पर आ गए हैं. इस एनकाउंटर पर किसने क्‍या कहा, पढ़ें.

  • सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि गैर-न्यायिक हत्याएं महिलाओं के प्रति हमारी चिंता का जवाब नहीं हो सकतीं. उन्होंने कहा कि बदला कभी न्याय नहीं हो सकता. इसके साथ ही उन्होंने सवाल उठाया कि आखिर 2012 में दिल्ली में हुए निर्भया गैंगरेप कांड के बाद लागू हुए कड़े कानून को हम सही से लागू क्यों नहीं कर पा रहे हैं.

  • कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा, “तेलंगाना में क्‍या हुआ, मैं फैक्‍ट्स नहीं जानता. एक जिम्‍मेदार व्‍यक्ति के रूप में, मैं इतना ही कहूंगा कि इसकी अच्‍छे से जांच होनी चाहिए कि ये जेनुइन एनकाउंटर था या नहीं. क्‍या वो भागने की कोशिश कर रहे थे या कुछ और हुआ.”
  • यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है, “आख़िर क़ानून से भागनेवाले… इंसाफ़ से कितनी दूर भागते. ख़ुशी है कि इससे किसी को न्याय मिला है लेकिन असली ख़ुशी तब होगी जब ऐसी कारगर निवारक सुरक्षा व्यवस्था व प्रतिरक्षक सामाजिक वातावरण बने कि ऐसे जघन्य अपराध कभी भी किसी बहन-बेटी के साथ घटित ही न हों.
  • पूर्व केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा, “पुलिस ने जनता की भावना को ध्यान में रखते हुए कदम उठाया. मगर यदि हमारा न्यायिक प्रक्रिया सही ढंग से एक्ट करे और इस तरह के केस में फैसले तेज और न्यायसंगत हों तो इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी. उत्तर प्रदेश के उन्नाव में भी जो घटना घटी है उसकी कड़ी निंदा और फ़ास्ट सुनवाई की मांग करते हैं.”
  • बाबा रामदेव ने कहा है, “पुलिस ने जो किया वो बहादूरी का काम है, इस देश के सभी लोगों को सुकून मिला है. कानून की दृष्टि में इसकी जैसी भी व्याख्या हो लेकिन धर्म और संस्कृति को बदनाम करने वाले ऐसे अपराधियों और आतंकवादियों के खिलाफ ऑन द स्पॉट कार्रवाई होनी चाहिए.
  • पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने हैदराबाद पुलिस की मुठभेड़ पर सवाल उठाए हैं. इस मुठभेड़ में दुष्कर्म व हत्या करने के चारों आरोपी मारे गए हैं. मेनका गांधी ने कहा, “जो भी हुआ है बहुत भयानक हुआ है इस देश के लिए. आप लोगों को इसलिए नहीं मार सकते, क्योंकि आप चाहते हैं. आप कानून को अपने हाथ में नहीं ले सकते, वैसे भी उन्हें अदालत से फांसी की सजा मिलती.” उन्होंने कहा, “अगर न्याय बंदूक से किया जाएगा तो इस देश में अदालतों और पुलिस की क्या जरूरत है?”
  • बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने हैदराबाद एनकाउंटर पर कहा, “जो भी हुआ बहुत भयानक हुआ इस देश के लिए. आप लोगों को नहीं मार सकते क्योंकि आप चाहते हैं. आप कानून अपने हाथ में नहीं ले सकते, उन्हें किसी भी तरह से अदालत की ओर से फांसी दी गई होती.
  • लोकसभा सांसद और तेलुगू अभिनेत्री नवनीत राणा ने कहा, “हैदराबाद में जो हुआ, सही हुआ. मैं बहुत खुश हूं. पुलिस को अपराधियों/बलात्‍कारियों के दिलों में डर पैदा करना ही होगा. फास्‍ट ट्रैक कोर्ट्स बननी ही चाहिए.
  • संजय निरुपम ने हैदराबाद में हुए एनकाउंटर को करने वाले पुलिस को बधाई दी है. उन्‍होंने कहा है कि ‘यह एक तरह से गैरकानूनी लग रहा होगा लेकिन महिलाओं के मन में एक तरह की सुरक्षा की भावना पैदा हुई होगी.

पार्टी लाइन से ऊपर उठकर एनकाउंटर का समर्थन

  • कांग्रेस नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने ट्वीट किया, “हैदराबाद में दरिंदों को अपने पाप की सजा मिली. सभ्य समाज मे ऐसे पापियों के लिए कोई स्थान नही होना चाहिए. मातृशक्ति की सुरक्षा सर्वोपरि है.
  • हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले, “जो हुआ अच्छा हुआ है, इससे पीड़िता को इंसाफ़ मिला है. निर्भया रेप कांड में सात साल के बाद भी आरोपियों को अभी तक सज़ा नहीं मिल पाई है. नियमों में बदलाव की जरूरत है.
  • राजद नेता और बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने कहा, “हैदराबाद में जो हुआ उससे अपराधी निश्चित रूप से डरेंगे, हम इसका स्‍वागत करते हैं. बिहार में भी महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं. राज्‍य सरकार सुस्‍त पड़ी है और कुछ नहीं करती.
  • दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “हाल ही में सामने आए रेप केसेज, चाहे वो उन्‍नाव हो या हैदराबाद, उससे लोग गुस्‍से में हैं. इसलिए एनकाउंटर पर खुशी जता रहे हैं.”
  • रेप के आरोपियों को सरेआम गोली मारने की वकालत करने वाली समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्‍चन ने अब कहा है, “देर आए दुरुस्‍त आए… बहुत देर आए…
  • छत्‍तीसगढ़ सीएम भूपेश बघेल ने एनकाउंटर पर कहा, “जब एक अपराधी भागने की कोशिश करता है तो पुलिस के पास कोई और विकल्‍प नहीं बचता. ये कहा जा सकता है कि न्‍याय हुआ है.”

और डिटेल्‍स आने का करें इंतजार : थरूर

  • कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि ‘डिटेल्‍स आने से पहले एनकाउंटर की निंदा नहीं होनी चाहिए.’ उन्‍होंने कहा, “हमें और जानने की जरूरत है, जैसे कि क्‍या अपराधियों के पास हथियारे थे, पुलिस शायद फायर करने में सही हो. डिटेल्‍स आने से पहले हमें निंदा में जल्‍दबाजी नहीं करनी चाहिए. लेकिन गैरकानूनी हत्‍याओं की कानून से चलने वाले समाज में कोई जगह नहीं है.
  • शिवसेना नेता और एनकाउंटर स्‍पेशलिस्‍ट रहे प्रदीप शर्मा ने एनकाउंटर करने वाले पुलिस वालों का समर्थन किया है. उन्‍होंने कहा है कि पुलिस पर अगर कोई अटैक करेगा तो उन्होंने अपने डिफेंस में कदम उठाया है. उन्होंने अपनी ड्यूटी की है.
  • हैदराबाद पुलिस का जगह-जगह स्‍वागत हो रहा है. रास्‍ते में रोककर उन्‍हें महिलाएं राखियां बांध रही हैं. एनकाउंटर साइट पर मौजूद पुलिसकर्मियों को लोगों ने गोद में उठा लिया. पीड़‍िता के पड़ोसियों ने पुलिसवालों को मिठाइयां बांटीं.

  • बीजेपी प्रवक्‍ता राजीव जेटली ने टीवी9 भारतवर्ष से कहा, “हमें अपनी न्यायिक प्रक्रिया को तेज करना होगा, जल्दी न्याय देना होगा और सख्त से सख्त सजा देनी होगी. ये जश्न का दिन नहीं है, इस तरह के अपराधी और ना हो इसकी हमें सामूहिक जिम्मेदारी लेनी होगी.”

  • शिवसेना प्रवक्‍ता प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट किया है कि “एक महिला के रूप में मुझे लगता है कि इन एनकाउंटर से ऐसे अपराध करने वालों के मन में डर बैठेगा. हालांकि अब हैदराबाद को जांच रिपोर्ट और सबूत दिखाकर साबित करना होगा कि वही असली गुनाहगार थे.”

  • पूर्व IPS अधिकारी शारदा प्रसाद ने कहा, “सामान्य तौर पर ऐसी स्थिति आनी नहीं चाहिए थी. जो भी सच है वो जांच से निकलेगा मगर भीड़तंत्र के साथ जाकर चटपट न्याय कर देना, मेरे ख्याल से जो भी हुआ है वो ठीक नहीं हुआ है.”

‘महिलाओं को सुरक्षा की गारंटी देने वाली सबसे बड़ी घटना’

  • पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने लिखा है, “इस सदी के 19 वें साल में महिलाओं को सुरक्षा की गारंटी देने वाली यह सबसे बड़ी घटना है. इस घटना को अंजाम देने वाले सभी पुलिस अधिकारी एवं पुलिसकर्मी अभिनंदन के पात्र हैं.” उन्‍होंने कहा, “मैं अभी हिमालय उत्तराखंड में गंगा किनारे हूं, तेलंगाना में महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ दुराचरण के बाद हत्या किए जाने की घटना से मैं बहुत दुखी एवं क्षुब्ध थी. किंतु अभी सवेरे मैंने समाचार सुना कि सीन रिक्रिएट करने के दरम्यान भागने की कोशिश में चारों अपराधी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए.” भारती ने ट्वीट में कहा, “मैं अब विश्वास कर सकती हूं कि दूसरे राज्यों के शासन में बैठे हुए लोग अपराधियों को तत्काल सबक सिखाने के रास्ते निकालेंगे. जिस घर की बेटी निर्दयता की शिकार होकर दुनिया से चली गई उस परिवार का दुःख कभी कम नहीं होगा किंतु उस बहन की आत्मा को शांति मिलेगी तथा भारत की अन्य लड़कियों के मन का भय कुछ कम होगा. जय तेलंगाना पुलिस.”

  • मध्‍य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने लिखा, “हैदराबाद में नरपिशाचों को उनके पाप की सजा मिली. पूरे देश को बड़ा सुकून मिला. दुष्टों के साथ यही व्यवहार होना चाहिए.”

  • राष्‍ट्रीय महिला आयोग की प्रमुख रेखा शर्मा ने कहा, “एक नागरिक के रूप में मुझे खुश है कि उनका वही हश्र हुआ जो हम सब चाहते थे. लेकिन ऐसा कानूनी सिस्‍टम के जरिए होना चाहिए था.”

इन चारों को पुलिस ने 29 नवंबर को गिरफ्तार किया था और अगले दिन शादनगर की एक अदालत ने उन्हें 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. बाद में उन्हें हैदराबाद के चेरलापल्ली जेल में भेज दिया गया. एक अदालत ने बुधवार को आरोपियों को सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था.

अपराधियों को तत्काल मौत की सजा देने की मांग के साथ निर्मम दुष्कर्म और हत्या को लेकर देश भर में विरोध की लहर देखने को मिली. पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हुए हैं. कई लोगों ने आरोपियों को सार्वजनिक रूप से फांसी दिए जाने की मांग की थी.

ये भी पढ़ें

जिस फ्लाईओवर के नीचे दिशा के साथ हुई दरिंदगी, तस्‍वीरों में देखें कैसे वहीं मारे गए उसके चारों आरोपी

हैदराबाद केस : मेरी बच्‍ची की आत्‍मा को अब शांति मिलेगी, दरिंदों के एनकाउंटर पर क्‍या बोले दिशा के पिता

Related Posts