VIDEO: “इस्‍तीफा दे चुका हूं अब मैं कांग्रेस अध्‍यक्ष नहीं, पार्टी जल्‍द चुने अपना मुख‍िया”

राहुल गांधी ने कहा, "मैंने पहले ही अपना इस्‍तीफा दे दिया है और पार्टी अध्‍यक्ष नहीं हूं."

नई दिल्‍ली: कांग्रेस के भीतर नेतृत्‍व को लेकर जारी ऊहापोह खत्‍म ही नहीं हो पा रही है. पार्टी अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा देने के बाद राहुल गांधी ने फिर दोहराया है कि कार्यसमिति की बैठक में नए अध्‍यक्ष पर फैसला होना चाहिए.

संसद में पत्रकारों के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा, “पार्टी को बिना किसी देरी के नए अध्‍यक्ष को लेकर फैसला करना चाहिए. मैं इस प्रक्रिया में कहीं नहीं हूं. मैंने पहले ही अपना इस्‍तीफा दे दिया है और पार्टी अध्‍यक्ष नहीं हूं. CWC जल्‍दी बैठक करे और तय करे.”

कांग्रेस के पांचों मुख्यमंत्रियों ने सोमवार को राहुल गांधी से मुलाकात कर उन्हें कांग्रेस प्रमुख पद पर बने रहने का आग्रह किया था. हालांकि, राहुल गांधी ने मुख्यमंत्रियों की मांगों को खारिज कर दिया है और उन्हें नए पार्टी अध्यक्ष की तलाश करने को कहा है.

राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के बेहद खराब प्रदर्शन के बाद 25 मई को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश की. कांग्रेस ने चुनाव में महज 52 सीटें जीती. राहुल खुद अपने गढ़ उत्तर प्रदेश के अमेठी में हार गए लेकिन केरल के वायनाड से जीतकर संसद पहुंचने में कामयाब रहे.

राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद पर बने रहें, इस मांग को लेकर मंगलवार को पार्टी मुख्यालय के बाहर सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों में वह लोग भी शामिल थे जिन्होंने राहुल गांधी के साथ एकजुटता दिखाने के लिए अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है. प्रदर्शन करने वालों में दिल्ली के पार्टी नेता राजेश लिलोथिया, शोभा ओझा और जगदीश टाइटलर शामिल रहे.

मंगलवार को एक पार्टी कार्यकर्ता के पेड़ पर चढ़कर फांसी लगाने की कोशिश की जिससे कांग्रेस मुख्यालय पर अफरा-तफरी फैल गई. हालांकि, उसे दिल्ली पुलिस द्वारा समय पर नीचे उतार लिया गया.

ये भी पढ़ें

राहुल के बाद कौन बनेगा कांग्रेस अध्यक्ष? इन दो नेताओं के नाम पर लग सकती है मुहर

राहुल की नौटंकी से मंझधार में कांग्रेस, कामराज प्लान ही लगा सकेगा नैया पार?