IAF ने मोबाइल प्लेटफॉर्म से दागी ब्रह्मोस मिसाइल…और तबाह हो गया 300 किमी दूर खड़ा टारगेट

ये दोनों ही मिसाइल सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल्स थीं. भारतीय वायु सेना ने रूटीन ऑपरेशनल ट्रेनिंग के तहत इन दोनों मिसाइल्स की फायरिंग को अंजाम दिया.

भारतीय वायु सेना ने 21 और 22 अक्टूबर को अंडमान निकोबार द्वीप समूह के ट्राक द्वीप पर दो ब्रह्मोस मिसाइल दाग कर उनका परिक्षण किया. ये दोनों ही मिसाइल सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल्स थीं. भारतीय वायु सेना ने रूटीन ऑपरेशनल ट्रेनिंग के तहत इन दोनों मिसाइल्स की फायरिंग को अंजाम दिया.

फायर किए गए दोनों मिसाइल्स ने 300 किलो मीटर दूर बनाए गए मॉक टारगेट को सीधे जा कर हिट किया और उसे तबाह कर दिया. दोनों ही मामलों मिसाइल सीधे टारगेट पर जा कर लगे. इन मिसाइल्स की सफल फायरिंग के साथ ही भारतीय वायु सेना की मोबाइल प्लेटफॉर्म से सतह पर मौजूद टारगेट को पिन पॉइंट सटीकता से मारने की क्षमता में बढ़ोतरी हो गई है.

इस मिसाइल टेस्ट के साथ ही भारतीय वायु सेना अब किसी भी मोबाइल प्लेटफॉर्म यानी चलने-फिरने वाले प्लेटफॉर्म से सतह पर मौजूद टारगेट को बड़ी ही सटीकता से तबाह कर सकने में पूरी तरह सक्षम हो गई है.

ये भी पढ़ें: सावरकर पर शोर के बीच ज़रा अशफ़ाक़ की वो क़ुर्बानी याद कर लें