अपनी ही मिसाइल का शिकार हुआ IAF हेलिकॉप्टर? अफसर पर चलेगा गैरइरादतन हत्या का केस

वायुसेना ने 27 फरवरी को एमआई-17 हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होने के कारणों को अभी आधिकारिक रूप से स्वीकार नहीं किया है.

नई दिल्ली: भारत-पाकिस्तान के बीच फरवरी में तनाव के बीच सेना के एक हेलीकॉप्टर के दुर्घटनावश गिरने के लिए भारतीय वायुसेना का एक अधिकारी जिम्मेदार पाया गया है. उसके खिलाफ पर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया जाएगा. रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मामले में तीन अन्य लोगों को भी अभियुक्त बनाया जाएगा.

वायुसेना ने 27 फरवरी को एमआई-17 हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होने के कारणों को अभी आधिकारिक रूप से स्वीकार नहीं किया है. इसी दिन पाकिस्तानी वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पार करने की कोशिश की थी. लेकिन रिपोर्ट्स के अनुसार, यह विमान भारतीय वायुसेना (आईएएफ) की ही एक रक्षक मिसाइल के हमले में धोखे में गिर गया था.

6 लोगों की हुई थी मौत
घटना की जांच अभी पूरी नहीं हुई है. घटना में विमान में सवार सभी छह लोगों की मौत हो गई थी. आईएएफ अपनी बात पर कायम रहते हुए कहा कि जांच जारी है, लेकिन विभिन्न रिपोर्ट्स संकेत दे रही हैं कि मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन करने में चूक हुई है.

एक रिपोर्ट के मुतबाकि, श्रीनगर एयर बेस, जहां दुर्घटना हुई थी, का संचालन करने वाले अधिकारी को हटा दिया गया है. एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, संचालन कर रहे अधिकारी के खिलाफ गैर इरादतन हत्या, आपराधिक कृत्य के मामले लगाए जाएंगे.

यह घटना जम्मू-कश्मीर में एलओसी पर उस समय हुई थी, जब आईएएफ के विमान पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी शिविर पर भारत की एयरस्ट्राइक के बाद अगले दिन भारत में घुसपैठ का प्रयास कर रहे पाकिस्तानी वायुसेना के विमानों से भिड़ गए थे.

ये भी पढ़ें-

BJP ने कांग्रेस के 10 विधायकों को दिया पैसे और पद का लालच: कमलनाथ का आरोप

EVM, VVPAT के मसले पर विपक्षी दलों की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- मोदी है तो रिजल्ट लूट भी मुमकिन

EVM पर सवाल उठाने वालों की बात पर इसलिए नहीं करता कोई विश्वास!