IAF की रडार इमेज से समझिए अभिनंदन ने कैसे मार गिराया पाक का F-16

भारतीय वायुसेना ने जो तस्वीरों जारी की है उनका विश्लेषण कर इस बात का पता चलता है कि कैसे भारतीय वायुसेना के एयर विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने पाक के F-16 को मारा. तस्वीरों के माध्यम से समझिए पूरी कहानी...

नई दिल्ली: वो दिन शायद किसी भी भारतीय के जेहन से नहीं निकलेगा जब हमारे चालीस जवान देश की आन-बान-शान के खातिर तिरंगे के कफन में लिपटकर हमेशा के लिए अमर हो गए. इस आतंकी घटना के बाद देश में युद्ध जैसे हालात बन चुके थे. हर भारतीय के आंखों में आंसू और जुबां पर पाकिस्तान से बदला लेने की ख्वाइश थी. 26 फरवरी को भारत ने पाकिस्तानी सीमा क्षेत्र के भीतर घुसकर आतंकी ठिकानों को तबाह किया. जिसके बाद बौखलाई पाकिस्तानी एयरफोर्स ने भारतीय सीमा में घुसने का साहस किया. जिसको भारतीय वायुसेना ने नाकाम करते हुए उनका F-16 विमान मार गिराया था.

पाक क्यों नकार रहा है
तब से लेकर अभी तक भारत और पाकिस्तान के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर चल रहा है. पाकिस्तान ने इस बात से साफ इनकार किया था कि उनका फाइटर जेट भारतीय सीमा में घुसा ही नहीं और भारतीय वायुसेना ने जो फाइटर जेट मारा है वो F-16 है ही नहीं. ये मामला अमेरिका तक पहुंचा. क्योंकि ये फाइटर विमान अमेरिका ने ही पाकिस्तान को सशर्तों के साथ सौंपा था. अमेरिका ने इस विमान को सौंपते हुए कुछ नियम और शर्त लगाईं थी. उन शर्तों में प्रमुख ये था कि पाकिस्तान किसी भी सूरत में इसका इस्तेमाल किसी दूसरे देश में हमले के लिए नहीं कर सकता. अमेरिका ने ये विमान इसलिए सौंपा था कि ये आतंकियों के खिलाफ इसका उपयोग कर सके. इसीलिए पाकिस्तान इस बात से साफ इनकार करता रहा कि उसने इस फाइटर जेट का इस्तेमाल किया. क्योंकि अगर वो इसको मान लेता तो अमेरिका कड़ी कार्रवाई करता.

बालाकोट स्ट्राइक, IAF की रडार इमेज से समझिए अभिनंदन ने कैसे मार गिराया पाक का F-16

क्यों दोबारा भारतीय वायुसेना को जारी करनी पड़ीं तस्वीरें
भारतीय वायुसेना ने इसकी शिकायत अमेरिका से की. अमेरिका ने भारत को भरोसा दिलाया था कि यदि उनकी जांच में ये पता चलता है कि पाकिस्तान ने F-16 फाइटर विमान का प्रयोग किया है तो वो जरुर उस पर कड़ी कार्रवाई करेंगे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. अमेरिका की सुरक्षा एजेंसी पेंटागन ने दावा किया कि पाकिस्तान ने उनके द्वारा दिया गया F-16 विमान का प्रयोग नहीं किया. भारतीय वायुसेना इससे पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विमान के सबूत दिखा चुकी थी. लेकिन सोमवार को भारतीय एयर चीफ मार्शल ने दोबारा उनके फाइटर जेट होने का सबूत सौंपा.

ध्यान से समझिए इन तस्वीरों को देखिए
सोमवार को भारतीय एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर ने पाकिस्तान द्वारा फैलाए जा रहे झूठ को बेनकाब करते हुए सबूतों को सामने रखा. इंडियन एयर फोर्स ने AWACS (एयरबॉर्न वॉर्निंग ऐंड कंट्रोल सिस्टम) रेडार की तस्वीरें भी जारी की हैं. अब इन तस्वीरों को ध्यान से समझिए और देखिए कैसे अभिनंदन ने पाकिस्तान के फाइटर जेट को मार गिराया था.

तीन तस्वीरें
जारी की हुई रेडार इमेज को दिखाते हुए कपूर ने बताया कि इसमें लाल निशान में 3 एयरक्राफ्ट दिख रहे हैं, जो पाकिस्तान के एफ-16 हैं. दाहिनी तरफ ब्लू सर्कल में पायलट अभिनंदन वर्तमान के मिग 21 बायसन एयरक्राफ्ट के होने का पता चलता है. कुछ ही देर बाद ली गई दूसरी इमेज में पाकिस्तान का एक एफ-16 एयरक्राफ्ट दिखाई नहीं देता है. इन तस्वीरों को ध्यान से देखने पर पता चलता है कि अभिनंदन ने किस तरह चालाकी से उनका विमान गिराया.

बालाकोट स्ट्राइक, IAF की रडार इमेज से समझिए अभिनंदन ने कैसे मार गिराया पाक का F-16

अभिनंदन के मिग 21 के सामने तीन विमान
इस सैटेलाइट तस्वीर में ऊपर से पहले नंबर पर आपको JE-17 विमान नजर आ रहा है जोकि चीन ने पाकिस्तान को दिया हुआ है. अब दूसरे नंबर की फोटो देखिए इसमें आपको नजर आएगा F-16 विमान जोकि पाकिस्तान को अमेरिका ने दिया हुआ है. अब तीसरे नंबर पर देखने से सारी तस्वीर साफ हो जाती है कि पाकिस्तान कैसे झूठ बोल रहा था. तीसरे नंबर वाला फाइटर जेट भी F-16 है.

गायब हुआ तीसरा विमान
अब दूसरी फोटो पर गौर करिए. इस फोटो में तीसरा F-16 गायब है. मतलब साफ है कि उसको जमींदोज कर दिया गया. अगर दो विमान सैटेलाइट पर आ रहे हैं तो तीसरा कहां गया. यही बात इन तस्वीरों के जरिए बताया गया है.

जब एक ही विमान हमारा था तो दूसरा किसका?
पाकिस्तान कितना झूठ बोलता है उसका एक उदाहरण और है. ध्यान कीजिए जब भारतीय वायुसेना का मिग 21 पाकिस्तान सीमा पर गिरा था तब डीजी आईएसपीआर (इंडर सर्विस पब्लिक रिलेशन) ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि उनके पास दो पायलट थे. एक कस्टडी में जबकि दूसरे को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इसी बात को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने भी अपने बयान में कहा था. लेकिन वहां तो हमारा केवल एक ही विमान गिरा था जिसको अभिनंदन उड़ा रहे थे. जब हमारा एक विमान गिरा और एक ही पायलट उसमें था तो दूसरा कौन था. पहले उनको लगा कि ये दोनों विमान ही भारतीय वायुसेना के हैं लेकिन बाद में उनको पता चल गया था कि वो विमान उनका अपना F-16 ही है.

बालाकोट स्ट्राइक, IAF की रडार इमेज से समझिए अभिनंदन ने कैसे मार गिराया पाक का F-16

IAF ने क्या कहा
IAF ने एक बयान में कहा, ‘इसमें कोई भी संदेह नहीं है कि 27 फरवरी 2019 को आसमान में डॉगफाइट के दौरान दो प्लेन गिरे थे. इनमें से एक IAF का बायसन था जबकि दूसरा पाकिस्तान एयरफोर्स का एफ-16 और इनकी पहचान इलेक्ट्रॉनिक सिग्नेचर और रेडियो ट्रांसक्रिप्ट से हुई है.’

अभिनंदन की बहादुरी के आगे गिरा F-16
गौरतलब है कि एयर स्ट्राइक के बाद एलओसी के पास 24 पाकिस्‍तानी विमानों को भारतीय लड़ाकू विमानों ने खदेड़ा था. इन 8 विमानों में वह मिग 21 बायसन विमान भी शामिल था जिसे विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान उड़ा रहे थे. विंग कमांडर पाकिस्‍तानी एफ-16 विमान के साथ उलझे हुए थे, जिसपर उन्‍होंने हवा से हवा में मार करने वाली R-73 मिसाइल दागी. स्‍टेट ऑफ द आर्ट पाकिस्‍तानी विमान, जिसमें माना जा रहा है दो पायलट थे, मार गिराया गया. दोनों ही पायलटों को नियंत्रण रेखा के उस तरफ पैराशूट से उतरते देखा गया.

पाक की ओर से आए थे इतने विमान
सूत्रों से पता चला था कि पाकिस्‍तानी विमानों में 8 F-16, 4 मिराज-3, 4 चीन निर्मित JF-17 थंडर फाइटर शामिल थे. अन्‍य विमानों में एस्‍कॉर्ट फाइटर विमान थे जो पाकिस्‍तानी स्‍ट्राइक फॉर्मेशन को किसी भी संभावित भारतीय कार्रवाई से बचाने के लिए थे. पाकिस्‍तानी विमानों का पता सुबह 9:45 मिनट पर लगा जब वो नियंत्रण रेखा के 10 किलोमीटर अं‍दर तक चले आए थे. उनमें से कुछ विमान जब नियंत्रण रेखा पार करने के लिए आगे बढ़े तो भारतीय वायुसेना के विमानों ने उनका रास्‍ता रोका. भारतीय विमानों में 4 सुखोई 30, दो उन्‍नत मिराज 2000 और दो मिग 21 बायसन शामिल थे.