जल्द भारत आएंगे और राफेल विमान, भारतीय वायु सेना की टीम फ्रांस पहुंची

भारतीय वायु सेना ( Indian Air Force) का सबसे ताकतवर लड़ाकू विमान राफेल ( Rafale Jets) की दूसरी खेप फ्रांस से जल्द भारत आने के लिए तैयार है.

भारतीय वायु सेना ( Indian Air Force) का सबसे ताकतवर लड़ाकू विमान राफेल ( Rafale Jets) की दूसरी खेप फ्रांस से जल्द भारत आने के लिए तैयार है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) की एक टीम राफेल का जायजा लेने फ्रांस पहुंच गई है.

सूत्रों के मुताबिक फ्रांस जाने वाली इस टीम का नेतृत्व वायु सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी कर रहे हैं.बताया गया कि यह टीम राफेल ड़ाकू विमान की डिलीवरी को लेकर रही प्रगति का जायजा लेगी. अक्‍टूबर के अंत तक राफेल जेट की दूसरी खेप भारत आएगी.

बताया गया कि इस बैच के राफेल विमानों को भी फिलहाल अंबाला एयरबेस (Ambala Air Base) में तैनात किया जाएगा.बता दें कि बीते 29 जुलाई को फ्रांस से पांच राफेल जेट का पहला बैच भारत आया था.

राफेल प्रोजेक्ट की तैयारियों का जायजा लेने पहुंची वायु सेना की टीम

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गुरुवार को सूत्रों ने बताया कि फ्रांस पहुंची भारतीय वायु सेना की टीम का नेतृत्व असिस्‍टेंट चीफ ऑफ एयर स्‍टाफ (प्रोजेक्‍ट्स) कर रहे हैं. वायु सेना की यह टीम इस हफ्ते की शुरुआत में प्रोजेक्‍ट की तैयारियों का जायजा लेने के लिए फ्रांस पहुंची हैं.

बता दें कि बीते 29 जुलाई को पांच राफेल लड़ाकू विमान का पहला बैच अंबाला पहुंचा था.इसके बाद 10 सितंबर को इनको औपचारिक तौर पर वायुसेना के बेड़े में शामिल किया गया है.

वायु सेना अधिकारियों के मुताबिक अगले कुछ हफ्तों में राफेल जेट का एक और बैच भारत आएगा. यह बैच कब तक भारत आएगा इस बारे में अभी तारीखों का ऐलान होना बाकी है.

हर दो माह में भारत को मिलेंगे चार राफेल

बताया गया कि हर दो माह के अंदर वायुसेना को चार राफेल जेट फ्रांस से मिलेंगे.वायु सेना के सूत्रों के अनुसार अगले साल तक सभी राफेल लड़ाकू विमान भारत आने की उम्‍मीद है.

मालूम हो कि भारत और फ्रांस के बीच साल 2016 में 36 राफेल विमान की डील हुई थी.फ्रांस के साथ यह डील करीब 59,000 करोड़ की लागत से हुई थी. फ्रांस की कंपनी दसॉल्‍ट ने भारतीय वायु सेना के इस्तेमाल के लिहाज से तैयार किया है.

भारत की सैन्य ताकत में होगा इजाफा

भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) लद्दाख में गतिरोध जारी है. दूसरी ओर एलओसी पर पाकिस्‍तान की तरफ से भी लगातार घुसपैठ और गोलीबारी का सिलसिला जारी है.

ऐसे में माना जा रहा है कि और राफेल विमानों के के आने से भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ेगी और भारत की सैन्य क्षमताओं में इजाफा होगा.

ये भी पढ़ें: चीन-पाकिस्तान की हर हरकत का जवाब देने के लिए भारत तैयार, बनाया ये खास प्लान

Related Posts