इस्लामाबाद से वाघा बॉर्डर तक अभिनंदन के अंदाज से यूं पस्‍त हुआ पाकिस्‍तान

सवा सौ करोड़ हाथों से अभिनंदन...सवा सौ करोड़ पलकों से अभिनंदन... सवा सौ करोड़ जज़्बातों से अभिनंदन...इस्लामाबाद में पाकिस्तानी सेना की गिरफ्त से लेकर वाघा बॉर्डर तक विंग कमांडर अभिनंदन जिस तरह मुस्कुराते हुए आए, उसे देखकर पूरा पाकिस्तान शर्मिंदा होने पर मजबूर हो गया होगा.

नई दिल्ली/अटारी बॉर्डर: 1 मार्च 2019 की तारीख़ हिंदुस्तान कभी नहीं भूलेगा. रात 9 बजकर 21 मिनट पर जब भारतीय वायुसेना के ‘बाघ’ अभिनंदन वर्तमान ने भारत की सरहद पर पहला कदम रखा, तो हर हिंदुस्तानी का हौसला सातवें आसमान पर पहुंच गया. अभिनंदन को अपनी सरहद में आता हुआ देखकर हर भारतवासी का सिर गर्व से ऊंचा हो गया. हौसले, जज़्बात, आत्मविश्वास और दुश्मन का ख़ून पानी कर देने वाली मुस्कान.. यही है हिंदुस्तान के हीरो अभिनंदन की सबसे बड़ी पहचान.

अभिनंदन की मुस्कान के सामने हारी पाकिस्तानी सेना

भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने 27 फरवरी को सिर्फ़ मिग-21 बायसन खोया था, लेकिन हौसले बुलंद ही रहे. 27 फरवरी को पहली बार दुनिया ने अभिनंदन वर्तमान की वो तस्वीर देखी, जिसमें पाकिस्तान का F-16 विमान मार गिराने के बाद वो पाकिस्तानी सेना की गिरफ़्त में थे. दुश्मन का फाइटर प्लेन ख़ाक में मिलाने के बाद और दुश्मन फौज की गिरफ्त में रहते हुए भी अभिनंदन के चेहरे की मुस्कान और आत्मविश्वास कम नहीं हुआ. मीडिया के सामने उन्होंने पाकिस्तानी सेना के बार-बार पूछने पर भी सिर्फ़ अपना नाम बताया, बाक़ी कुछ नहीं. हर सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया. पाकिस्तानी सेना सिर्फ़ सवाल पूछकर अभिनंदन के इनकार के सामने सहमकर रह गई.

अभिनंदन के इनकार के सामने पस्त पाकिस्तान

पाकिस्तानी सेना जब अभिनंदन से पूछताछ के बाद हार गई तो कुछ देर बाद अभिनंदन वर्तमान को फिर मीडिया के सामने लाई. इस बार हिंदुस्तान का ये ‘बाघ’ मुस्कुरा भी रहा था और चाय भी पी रहा था. उन्होंने एक बार फिर सारी दुनिया के सामने पाकिस्तानी सेना के हर सवाल पर इनकार की स्ट्राइक कर दी. बुज़दिल पाकिस्तानी सेना के पास अभिनंदन के इस चट्टान जैसे हौसले के सामने लाचार रहने के अलावा कोई चारा नहीं था.

अभिनंदन की मुस्कान से बढ़ी पाकिस्तानी रेंजर्स की टेंशन!

1 मार्च को वतन वापसी से ठीक पहले विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की पहली झलक दिखी. पाकिस्तान उन्हें वाघा बॉर्डर तक लेकर आया. यहां जैसे-जैसे उनके क़दम आगे बढ़ रहे थे, उनके चेहरे की मुस्कान बढ़ने लगी. चारों तरफ़ से पाकिस्तानी रेंजर्स ने उन्हें घेर रखा था, लेकिन वो मुस्कुराते हुए हिंदुस्तान की सरहद और सामने लहराते तिरंगे की ओर देख रहे थे. कागज़ी कार्यवाही के दौरान कुछ देर तक वो पाकिस्तानी सीमा में वाघा बॉर्डर पर ही सीना ताने खड़े रहे. इस दौरान पाकिस्तानी रेंजर्स साफ़ तौर पर तनाव में नज़र आ रहे थे, लेकिन अभिनंदन वर्तमान अपनी मुस्कान से पाकिस्तान पर कहर ढा रहे थे.

मुस्कान और मूंछों वाला ‘बाघ’

अभिनंदन वर्तमान की मुस्कान और मूंछें पाकिस्तान के सीने पर कील की तरह चुभ रही होंगी. विंग कमांडर अभिनंदन की बड़ी-बड़ी मूंछें हैं. पाकिस्तान की सेना उनकी मूंछों का रौब देखकर हाथ मसलते हुए रह गई. जब वो पाकिस्तानी सेना के सामने ही चाय की चुस्कियां ले रहे थे, उस दौरान भी उनकी मुस्कान और मूंछें पाकिस्तान को परेशान कर रही होंगी. वाघा बॉर्डर पर तो पाकिस्तानी कैमरे उनके चारों ओर घूम रहे थे. इस दौरान भी उनके चेहरे पर मुस्कान की चमक और मूंछों की धमक साफ़ दिख रही थी. पाकिस्तान सिर्फ़ 2 दिन में ही ये समझ गया होगा कि अभिनंदन वर्तमान भारत का बाघ है और बाघ की सबसे बड़ी ख़ासियत यही है कि वो एक बार जो टारगेट उसने तय कर लिया, तो वो उसका शिकार करके ही दम लेता है. अब पाकिस्तान ये भी जान ले कि हिंदुस्तान का हर जांबाज़ सैनिक अभिनंदन जैसा बाघ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *