लॉकडाउन के बाद देश में हर पांचवें व्यक्ति में एक बेरोजगार : सर्वे

IANS-सीवोटर COVID-19 ट्रैकर द्वारा यह सर्वे 24 जून से 22 जुलाई के दौरान करवाया गया जो परिवार के कमाने वाले प्रमुख सदस्य की स्थिति पर आधारित था.
Unemployment in india after lockdown, लॉकडाउन के बाद देश में हर पांचवें व्यक्ति में एक बेरोजगार : सर्वे

कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण की रोकथाम के लिए किए गए देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) में ढील के बाद देश में हर पांचवे व्यक्ति में एक बेरोजगार हो गया है. यह बात IANS-सीवोटर COVID-19 ट्रैकर द्वारा करवाए गए सर्वे के नतीजों से सामने आई है. सर्वेक्षण में 1723 लोगों को शामिल किया गया था.

सर्वे के मुताबिक, 21.57 फीसदी लोगों की या तो पूरी तरह छटनी हो गई है या वे बेकार हो गए हैं. सर्वे से यह भी संकेत मिलता है कि 25.92 फीसदी लोग अभी तक उसी आय या वेतन पर नियमन और सुरक्षा उपायों के तहत काम कर रहे हैं. जबकि 7.09 फीसदी लोग घरों से काम कर हैं और उनके वेतन में किसी प्रकार की कटौती नहीं की गई है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

केंद्र सरकार ने 25 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन कर दिया जबकि अनलॉक की प्रक्रिया एक जून से शुरू हुई. यह सर्वे 24 जून से 22 जुलाई के दौरान करवाया गया जो परिवार के कमाने वाले प्रमुख सदस्य की स्थिति पर आधारित था.

सर्वेक्षण के अनुसार 8.33 फीसदी लोगों की आय घट गई लेकिन वे नियमन व सुरक्षा उपायों के तहत काम कर रहे हैं जबकि आठ फीसदी लोग घरों से काम कर रहे हैं और उनके वेतन में कटौती हुई है या आय कम हो गई है.

सर्वेक्षण से इस बात का भी संकेत मिलता है कि लॉकडाउन में ढील के बाद देश में 6.12 फीसदी लोगों के पास आय का कोई साधन नहीं है जबकि 1.2 फीसदी लोग अभी तक काम कर रहे हैं लेकिन उनको वेतन नहीं मिल रहा है.

ताजा सर्वेक्षण के नतीजे और अनुमान सीवोटर द्वारा करवाले गए रोजाना पोल पर आधारित है जिसमें पूरे राज्य से 18 से अधिक उम्र के लोगों को शामिल गया गया है.

Related Posts