गोडसे को थैंक यू वाला ट्वीट कर क्या गलत फंस गई ये IAS अफसर?

इस ट्वीट के कारण निधि को नोटिस जारी किया गया और फिर उनका ट्रांसफर भी कर दिया गया. हालांकि अपने ट्वीट को लेकर निधि सफाई दे चुकीं है कि यह केवल एक तंज था.
IAS officer Nidhi Choudhari, गोडसे को थैंक यू वाला ट्वीट कर क्या गलत फंस गई ये IAS अफसर?

नई दिल्ली: गोडसे को थैंक यू वाला ट्वीट करने के बाद से ही आईएएस अधिकारी निधि चौधरी विवादों के घेरे में हैं. कई राजनीतिक पार्टी ने निधि के इस ट्वीट को लेकर कड़ी आपत्ति जताई थी, तो वहीं दूसरी ओर नेशनल कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष शरद पवार ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आईएएस अधिकारी निधि चौधरी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की थी.

इसके बाद निधि को नोटिस जारी किया गया और फिर उनका ट्रांसफर भी कर दिया गया. हालांकि अपने ट्वीट को लेकर निधि ने सफाई भी दी कि उनका यह ट्वीट केवल एक तंज था, जिसे लोगों ने गलत तरीके से समझा. सबसे पहले आपको बताते हैं कि निधि चौधरी के किस ट्वीट पर विवाद छिड़ा.

इस ट्वीट को लेकर मचा बवाल

निधि ने 17 मई, 2019 को ट्वीट किया था, “इस साल 150वीं जयंती का कितना सुन्दर समारोह चल रहा है. अब वक्त आ गया है कि हम अपने नोटों से उनका चेहरा हटाएं, दुनिया से उनकी प्रतिमाएं हटाएं, उनके नाम वाली संस्थाओं, सड़कों का फिर से नामकरण करें. हमारी ओर से यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी. 30-01-1948 के लिए धन्यवाद गोडसे.”

IAS officer Nidhi Choudhari, गोडसे को थैंक यू वाला ट्वीट कर क्या गलत फंस गई ये IAS अफसर?

बात का निकाला गया गलत मतलब

निधि चौधरी ने यह ट्वीट भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद प्रज्ञा ठाकुर के उस बयान के बाद किया था, जिसमें प्रज्ञा ने गोडसे को देशभक्त बताया था. महात्मा गांधी पर किए गए ट्वीट को लेकर होते विरोध को लेकर निधि चौधरी ने कहा कि वे महात्मा गांधी का दिल से सम्मान और नमन करती है और ऐसा वे अपनी आखिरी सांस तक करेंगे.

अपने पुराने ट्वीट पर स्पष्टिकरण देते हुए निधि चौधरी ने ट्वीट किया, “गांधी जी पर 17 मई, 2019 को जो लिखा वह मैंने डिलीट कर दिया है क्योंकि कुछ लोगों ने उसका गलत मतलब निकाल लिया है. अगर वे मुझे 2011 से फॉलो करते तो उन्हें समझ आता कि मैं कभी भी गांधी जी का अपमान नहीं कर सकती. मैं दिल से उनका सम्मान और नमन करती हूं और ऐसा मैं आपनी आखिरी सांस तक करूंगी.”

इसके साथ ही निधि ने अपने कई पुराने ट्वीट्स को साझा किया, जिनमें वे महात्मा गांधी की तारीफ करते हुए दिखाई दी हैं. वहीं निधि के ट्विटर हैंडल को देखा जाए तो कहा जा सकता है कि उनके जिस ट्वीट को लेकर बवाल मचा वह उन्होंने तंज के तौर पर ही लिखा था. निधि ने अपने पुराने ट्विट्स को रीट्वीट करते हुए लोगों को प्रूफ किया कि महात्मा गांधी की बहुत बड़ी फॉलोअर हैं और कभी भी उनका अपमान नहीं कर सकती हैं.

‘सत्य की विजय होगी’

इन दिनों विवादों से जूझ रही निधि ने 1 जून को ट्वीट किया, “मेरे जीवन में कैसे भी हालात हो, मैं अपने मूल्यों से डिगने वालों में से नहीं हूं और मेरे मूल्य गांधीजी की विचारधारा से आते हैं. अनेक वर्षों से मेरा व्हाट्सऐप स्टेट्स सत्यमेव जयते है. मुझे पूर्ण विश्वास है कि सत्य की विजय होगी.”

Related Posts