JK: लापता जवान के कपड़े मिले, पिता ने आतंकियों से कहा-अगर मार दिया है तो भेज दो शव

अपहरण के दिन शाकिर (Shakir Manzoor) बालपोरा कैंप में तैनात था, उसे ऑफिशियल मेल के बाद कैम्प छोड़ने की इजाज़त मिली थी, वह घर के लिए अपनी निजी कार में रवाना हुआ था.
send his body if you killed him, JK: लापता जवान के कपड़े मिले, पिता ने आतंकियों से कहा-अगर मार दिया है तो भेज दो शव

कश्मीर (Kashmir) में टेरिटोरियल आर्मी (Territorial Army) के एक जवान के लापता होने के पांच दिन बाद परिवार को घर के नजदीक उसके कपड़े मिले हैं. उन्होंने आतंकियों से अपील की है कि अगर सैनिक शहीद हुआ है तो उसकी बॉडी सौंप दें. 2 अगस्त को 24 साल के शाकिर मंज़ूर वागे दक्षिण कश्मीर (South Kashmir) के शोपियां जिले (Shopian District) के हरमैन में अपने घर के नज़दीक से लापता हो गए.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

शुक्रवार सुबह शाकिर के पिता मंज़ूर अहमद वाघे को बेटे की खोज करते हुए उसके कपड़े मिले. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक मंज़ूर ने बताया कि उनके बेटे के कपड़े फटे हुए थे और ज़मीन पर खून के धब्बे थे. मंज़ूर ने सेना को बाग में शाकिर के कपड़े मिलने के बारे में जानकारी दी, जिसके बाद सेना की टीम वहां पहुंची.

मुझे पता है मेरा बेटा सैनिक था

उन्होंने कहा कि मुझे पता है मेरा बेटा एक सैनिक था. मैं मुजाहिद्दीनों से अपील करता हूं कि अगर वो उसे माफ कर सकते हैं तो कर दें. नहीं तो उसका शव हमें  दे दें. अपहरण के दिन शाकिर बालापोरा कैंप में तैनात था, उसे ऑफिशियल मेल के बाद कैम्प छोड़ने की इजाज़त मिली थी.

घर के लिए वो अपनी निजी कार में रवाना हुआ था. पिता ने कहा कि उनके बेटे ने उन्हें फोन किया था और बताया कि कोई दोस्त है जो उसे रास्ते में मिला है और उसे एक घंटा लगेगा.

घर से एक किलोमीटर दूर उसकी गाड़ी रोकी गई

वह मुझे इशारा कर रहा था कि उसका अपहरण कर लिया गया है. मुझे बाद में पता चला कि घर से एक किमी दूर उसकी गाड़ी रोकी गई थी और उसमें कुछ और लोग सवार हो गए थे. शाकिर की कार को कुलगाम के नेहामा गांव में छोड़ दिया गया और जला दिया गया, जहां से उसका अपहरण किया गया था.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts