91 हजार करोड़ के कर्ज में डूबी IL&FS के CEO रमेश बावा गिरफ्तार

रमेश बावा ने सर्वोच्च न्यायालय में SFIO द्वारा लगाए गए आपराधिक मुकदमे पर रोक के साथ अग्रिम जमानत की याचिका दायर की थी.
ramesh bawa, 91 हजार करोड़ के कर्ज में डूबी IL&FS के CEO रमेश बावा गिरफ्तार

नई दिल्ली: अनियमितताओं के चलते कर्ज में डूबी आईएल एंड एफएस   (IL&FS) मामले में दूसरी बड़ी गिरफ्तारी हुई है. IL&FS कंपनी के CEO रमेश बावा को गिरफ्तार किया गया है. सीरियस फ्रॉड इन्वेस्टिगेशन ऑफिस (SFIO) ने रमेश बावा को गिरफ्तार किया है.

इससे पहले कंपनी के पूर्व चेयरमैन हरी शंकरण को गिरफ्तार किया गया था. शंकरण को मुंबई की भायखला जेल में रखा गया है.

रमेश बावा ने सर्वोच्च न्यायालय में SFIO द्वारा लगाए गए आपराधिक मुकदमे पर रोक के साथ अग्रिम जमानत की याचिका दायर की थी. कोर्ट ने कंपनी के CEO रमेश बावा की याचिका खारिज कर दी थी.

इसी वजह से ऋण धोखाधड़ी के मामले में SFIO ने गिरफ्तार किया है. अनुच्छेद 447 के तहत यह गिरफ्तारी की गई है. यह कंपनी लगभग 91 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में डूबी हुई है.

क्या है (IL&FS)

IL&FS (INFRASTRUCTURE LEASING AND FINANCIAL SERVICES) कंपनी है. यह एक सरकारी क्षेत्र की कंपनी है जिसकी 40 सहायक कंपनियां हैं. इसे नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी की श्रेणी में रखा जाता है जो बैंकों से लोन लेती हैं. जिसमें कंपनियां निवेश करती हैं और आम जनता जिसके शेयर ख़रीदती है. इस कंपनी को कई रेटिंग एजेंसियों से अति सुरक्षित दर्जा हासिल है.

Related Posts