6.1 प्रतिशत के साथ अब भी भारत की विकास दर दुनिया में सबसे तेज: IMF

IMF की रिपोर्ट के मुताबिक जर्मनी, चीन और भारत में मंदी का असर पड़ा है. हालांकि भारत ने पूर्वानुमान के लगभग एक प्रतिशत कटौती के बावजूद, चीन के साथ दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था के रूप में अपनी रैंक बरकरार रखता है.
IMF, 6.1 प्रतिशत के साथ अब भी भारत की विकास दर दुनिया में सबसे तेज: IMF

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने मंगलवार को अपनी वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक (WEO) रिपोर्ट में वर्ष 2019 के लिए भारत के विकास दर के अनुमान को घटाकर 6.1 प्रतिशत कर दिया, जो कि अप्रैल के अनुमानों से 1. 2 प्रतिशत कम है. अप्रैल में IMF ने कहा था कि देश 2019 में 7.3 प्रतिशत की दर से बढ़ेगा और बमुश्किल तीन महीने बाद उसने फिर से अपने आंकड़ों को संशोधित किया है.

अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध और कठिन ब्रेक्सिट वार्ता के बीच, IMF ने यह भी चेतावनी दी कि विश्व अर्थव्यवस्था 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट के बाद से अपनी सबसे कमजोर गति पर है. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने नवीनतम पूर्वानुमानों के हवाले से कहा, “एक मंदी और अनिश्चितता से उबरने के साथ, वैश्विक दृष्टिकोण अनिश्चित बना हुआ है.”

IMF की रिपोर्ट के मुताबिक जर्मनी, चीन और भारत में मंदी का असर पड़ा है. हालांकि भारत ने पूर्वानुमान के लगभग एक प्रतिशत कटौती के बावजूद, चीन के साथ दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था के रूप में अपनी रैंक बरकरार रखता है.

भारत की विकास दर में कटौती के बारे में बताते हुए WEO ने कहा, “भारत की अर्थव्यवस्था दूसरी तिमाही में और अधिक खराब हो गई, जिसका प्रमुख कारण ऑटोमोबाइल और रियल एस्टेट सेक्टर्स में कमजोरी के चलते हुआ.

ये भी पढ़ें: कनॉट प्लेस में युवक की हत्या के आरोप में पुलिस ने 12 घंटे में पकड़े 2 आरोपी

Related Posts