पैसे देकर PoK में विद्रोह शांत कर रहे हैं इमरान खान

अमेरिका से आने के बाद इमरान खान पीओके पहुंचे. मीरपुर में उन्होंने एक अस्पताल का दौरा किया. भूकंप पीड़ितों का हालचाल जाना. इमरान खान सिपहसलारों के साथ अस्पताल में घूमें और पीओके के लोगों का दिखावी मोहब्बत जताने लगे.

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 (Article 370) को खत्म होने के बाद अब पाकिस्तान(Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को पीओके (POK) छिनने का डर सता रहा है. इमरान खान इतना डर गए है कि वो पैसे देकर लोगों के विद्रोह को शांत करने की कोशिश में है. पीओके में घूमकर पैसे बांट रहे हैं. इमरान खान ने पीओके में आए भूकंप में मारे गए लोगों के लिए पांच लाख रूपये देने का ऐलान किया. वहीं घायलों के लिए इस सुल्तान का दिल बिल्कुल भी नहीं पसीजा.

अमेरिका से आने के बाद इमरान खान पीओके पहुंचे. मीरपुर में उन्होंने एक अस्पताल का दौरा किया. भूकंप पीड़ितों का हालचाल जाना. इमरान खान सिपहसलारों के साथ अस्पताल में घूमें और पीओके के लोगों का दिखावी मोहब्बत जताने लगे.

इमरान खान के ड्रामे की ये तस्वीर मीरपुर जिला अस्पताल की है. अमेरिका से लौटने के बाद रात भर सुल्तान ने आराम किया. सुबह नींद खुली तो याद आया पीओके का. दलबल को इकट्ठा किया और कब्जे बाले कश्मीर की तरफ निकल पडे़. इमरान खान अस्पातल में घूम-घूमकर लोगों का हालचाल जाना. डॉक्टर से पूछताछ की और पीओके के पीड़ितों के लिए पैकेज का ऐलान किया.

पिछले हफ्ते पीओके में 24 सितंबर को दो बार भूंकप आया था. चारों तरफ अफरातफरी मच गई थी. इस आपदा में 40 लोगों की मौत हो गई जबकि 600 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए. 27 सितंबर को भी जब उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपना भाषण दिया तो उसमें भी गुलाम कश्मीर में आए भूकंप का कोई जिक्र तक नहीं किया गया. गुलाम कश्‍मीर के राष्‍ट्रपति ने भूकंप के कुछ ही देर बाद विदेशों से राहत की गुहार लगानी शुरू कर दी. तब जाकर हादसे के तीन दिन बाद कंगाल पाकिस्तान के सुल्तान ने मुआवजे का ऐलान किया.

इमरान के इस कागजी चाल के पीछे भी वजह है. वजह है कि पीओके में लगातार उठ रहे पाकिस्तानी हुकूमत और पाकिस्तानी आर्मी के खिलाफ उठ रही आवाज़. उस विद्रोह को पैसे के बल पर दबाने की कोशिश की जा रही है. इमरान खान दुनिया को ये दिखाना चाहते हैं कि उन्हें पीओके की कितनी फिक्र है. मगर हकीकत दुनिया अच्छी तरह जानती है. दुनिया को पता है कि घाटी को आतंक का रिसर्च सेंटर बनाने वाले इमरान खान अस्पताल में घूम घूमकर लोगों को मरहम लगाने का ढोंग कर रहे हैं.

Related Posts