टॉयलेट में मिला सैनिटरी पैड तो छात्राओं के कपड़े उतरवाकर की चेकिंग, दो वार्डन बर्खास्त

कार्रवाई करते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने दो महिला वॉर्डन और दो महिला सुरक्षाकर्मियों को बर्खास्त कर दिया है.

चंडीगढ़.  पंजाब के बठिंडा में अकाल विश्वविद्यालय के टॉयलेट में सैनिटरी पैड मिला. जिसके बाद हॉस्टल की करीब एक दर्जन छात्राओं को वार्डन ने कथित तौर पर कपड़े उतारकर चेक कराने को कहा ताकि ये जांच की जा सके कि किसके पीरियड्स चल रहे हैं. विश्वविद्यालय प्रशासन के इस कृत्य के बाद से छात्राओं का प्रदर्शन जारी है. मामले ने जब तूल पकड़ा तो विश्वविद्यालय प्रशासन ने दो सुरक्षा गार्डों और दो महिला वार्डनों को बर्खास्त कर दिया है.

घटना के बाद से करीब 600-700 छात्रों का प्रदर्शन जारी है. विश्वविद्यालय प्रशासन ने शुरुआत में इसे छोटी गलती बताया था, लेकिन मामले को बढ़ता देख उन्होंने कर्मचारियों पर कार्रवाई करते हुए उन्हें बर्खास्त कर दिया. हालांकि, अभी तक कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई है.  पिछले साल नवंबर में भी कुछ छात्राओं को इसी बहाने क्लास में कपड़े उतरवाए गए थे.

छात्राओं का कहना है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने चारो कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने में देरी की है. साथ ही उन्होंने ये भी आरोप लगाया है कि कैंपस का माहौल बहुत संकुचित है, जहां महिला और पुरुष छात्रों को एक दूसरे से बात करने को भी मना किया जाता है. एक छात्रा ने कहा, “हम वार्डन और अधिकारियों के खिलाफ मजबूती से खड़े हैं और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.”

तलवंडी साबो स्थित विश्वविद्यालय में गर्ल्स हॉस्टल के वार्डन को शौचालय में कुछ गंदे सैनिटरी पैड मिले थे, जिसके बाद दो महिला सुरक्षा गार्डों की मदद से 12 छात्राओं के कपड़े उतरवाए गए थे.