LAC पर तनाव के बीच भारत के साथ US, माइक पोम्पियो ने की विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात

पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) में लाइन ऑफ एक्चुअल (LAC) पर चीन के आक्रामक व्यवहार के खिलाफ अमेरिका (America) भारत का समर्थन कर रहा है.
mike pompeo phone call to s jaishankar, LAC पर तनाव के बीच भारत के साथ US, माइक पोम्पियो ने की विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात

गलवान घाटी (Galwan Valley) में 15 जून की घटना के बाद भारत और चीन के बीच तनाव (Tension Between India-Chia) काफी बढ़ा है. पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) में लाइन ऑफ एक्चुअल (LAC) पर चीन के आक्रामक व्यवहार के खिलाफ अमेरिका (America) भारत का समर्थन कर रहा है. राष्ट्रपति डोनाल्ड  ट्रंप और उनका प्रशासन आए दिन भारत के साथ सीमा विवाद को लेकर चीन की कड़ी आलोचना करता रहता है. इस बीच खबर है कि भारत और अमेरिका के विदेश मंत्रियों ने चीन द्वारा अपनाए जा रहे आक्रामक रुख पर आपस में फोन पर बातचीत की है.

स्ट्रैटजिक कारणों से पब्लिक नहीं हुई बातचीत

इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से लिखा है कि लगभग 10 दिन पहले अमेरिका के विदेश मंत्री माइकल आर. पोम्पियो (Michael R. Pompeo) ने भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर (S. Jaishankar) को फोन किया था. दोनों के बीच हुई उस समय की बातचीत वॉशिंगटन द्वारा नई दिल्ली को अपना समर्थन देने के ईर्द-गिर्द थी.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

मार्च से जयशंकर और पोम्पियों के बीच कम से कम तीन बार बात हुई है. पर हालिया बातचीत गलवान घाटी के घटना के बाद पहली है. रिपोर्ट के अनुसार, दोनों विदेश मंत्रियों के बीच क्या बातचीत हुई इसे स्ट्रैटजिक कारणों से पब्लिक नहीं किया जा सकता. ऐसा इसलिए क्योंकि भारत और चीन के बीच कूटनीतिक बातचीत चल रही है.

गलवानी घाटी हिंसा के बाद अमेरिका का बयान

गलवान घाटी की घटना के दो दिन बाद यानी 17 जून को वॉशिंगटन ने अपना बयान जारी किया था. अमेरिका के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने बयान में कहा था कि हम एलएसी पर भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच की स्थिति पर बारीकी से निगरानी कर रहे हैं. भारतीय सेना ने घोषणा की है कि 20 सैनिक शहीद हो गए हैं. हम उनके परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं. भारत और चीन दोनों ने डी-एस्केलेट करने की इच्छा व्यक्त की है और हम मौजूदा स्थिति का शांतिपूर्ण तरीके से समाधान निकालने का समर्थन करते हैं.

हालांकि पिछले 10 दिनों में अमेरिका अपने बयानों में अधिक मुखर होकर भारत को अपना समर्थन देने की बात कर रहा है. पोम्पियो इस समर्थन को लीड करते हुए दिखे हैं. 1 जुलाई को वाशिंगटन डीसी में पत्रकारों को ब्रीफ करते हुए, उन्होंने 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के भारत सरकार के फैसले का स्वागत किया था.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts