12 आयुष विशेषज्ञों के सम्मान में डाक टिकट जारी कर PM मोदी ने कहा, ‘ये बदलाव हुए हैं न्यू इंडिया में’

इस मौके पर 10 आयुष केंद्रों का अनावरण करते हुए पीएम मोदी ने दिल्ली में आयुष मंत्रालय के एक कार्यक्रम में कहा कि देश भर में 12,500 आयुष केंद्र बनाने का लक्ष्य है, जिनमें से 10 आयुष स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों का आज उद्घाटन किया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को आयुष पद्धति को समृद्ध करने वाली 12 हस्तियों के सम्मान में डाक टिकट जारी किए. डाक टिकट जारी करने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में परंपरा थी कि बड़े-बड़े नाम हों या जो नेता हों, उन्हीं पर डाक टिकट बनते थे. लेकिन अब आयुर्वेद के लिए खप जाने वालों पर भी डाक टिकट बन सकते हैं. यही तो बदलाव हुआ है हिंदुस्तान में.

इन विशेषज्ञों के नाम पर जारी हुए डाक टिकट

  • राजवैद्य बृहस्पति देव त्रिगुणा
  • वैद्य शास्त्री शंकर दाजी पदे
  • हकीम मोहम्मद कबीरूद्दीन
  • वैद्य भास्कर विश्वनाथ गोखले
  • वैद्यभूषणम के राघवन थिरूमूलपाड
  • डॉ. केजी सक्सेना
  • वैद्य यादव जी त्रिकमजी आचार्य
  • स्वामी कुवलयानंद
  • हकीम मोहम्मद अब्दुल अजीज लखनवी
  • डॉ. दीनशॉ मेहता
  • महर्षि महेश योगी
  • तिरू टीवी संबाशिवम पिल्लई

इस मौके पर 10 आयुष केंद्रों का अनावरण करते हुए पीएम मोदी ने दिल्ली में आयुष मंत्रालय के एक कार्यक्रम में कहा कि देश भर में 12,500 आयुष केंद्र बनाने का लक्ष्य है, जिनमें से 10 आयुष स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों का आज उद्घाटन किया गया है. हमारा उद्देश्य है कि इस वर्ष 4,000 ऐसे आयुष केंद्र स्थापित किए जाएं.

आयुष शिक्षा हेल्थ केयर के साथ रोजगार निर्माण का भी माध्यम

पीएम मोदी ने कहा कि सिर्फ मॉर्डन मेडिसिन ही नहीं, आयुष की शिक्षा में भी अधिक और बेहतर प्रोफेशनल्स आएं, इसके लिए आवश्यक सुधार किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि देश में आयुष का जो आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार हो रहा है उसके व्यापक लाभ हैं. हेल्थ केयर के साथ-साथ ये रोजगार निर्माण का भी माध्यम बन रहा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने आयुष्मान भारत योजना का जिक्र करते हुए कहा, “आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत जितने मरीजों को अब तक मुफ्त इलाज मिला है, वो अगर इसके दायरे में ना होते तो उन गरीब परिवारों का 12 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक का खर्च हुआ होता. उन्होंने कहा कि एक प्रकार से देश के लाखों गरीब परिवारों के 12 हज़ार करोड़ रुपए की बचत हुई है.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस नेता रेणुका चौ‍धरी की मुश्किल बढ़ी, कोर्ट ने जारी किया गैर जमानती वारंट