हाथरस जैसी घटनाएं महाराष्ट्र में सहन नहीं की जाएंगीः उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्य में हाथरस जैसी घटनाओं को सहन नहीं किया जाएगा और जो महिलाओं के विरूद्ध अपराध में संलिप्त होंगे, उनसे कठोरता से निपटा जाएगा.

  • BHASHA
  • Publish Date - 4:54 pm, Thu, 1 October 20

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्य में हाथरस जैसी घटनाओं को सहन नहीं किया जाएगा और जो महिलाओं के विरूद्ध अपराध में संलिप्त होंगे, उनसे कठोरता से निपटा जाएगा.
उत्तर प्रदेश की हाथरस (Hathras) की 19 वर्षीय दलित युवती के साथ 14 सितंबर को चार व्यक्तियों ने बलात्कार किया था और मंगलवार को उसकी मौत हो गई थी.

इसे लेकर देशभर में गुस्सा है. इसी बीच ठाकरे का बयान आया है. ठाकरे ने नव गठित मीरा-भायंदर वसई विरार पुलिस आयुक्तालय का ऑनलाइन उद्धाटन करते हुए यह टिप्पणी की.

अपराधियों से सख्ती से निपटा जाएगा

उन्होंने कहा, ” जब इस जैसी घटनाएं उत्तर प्रदेश में होती हैं, तो हम आमतौर पर कुछ समय के लिए इस पर चर्चा करते हैं और फिर भूल जाते हैं, लेकिन महाराष्ट्र में ऐसी घटनाएं होने नहीं दी जाएंगी.”

यह भी पढ़ें- राज्यसभा सांसद अहमद पटेल की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी

मुख्यमंत्री ने कहा, ” हाथरस-जैसी घटनाएं महाराष्ट्र में कभी सहन नहीं की जाएंगी. उत्पीड़न और छेड़छाड़ समेत महिलाओं के विरूद्ध किसी भी तरह के अपराध से कठोरता से निपटा जाएगा.”

अपराधियों में पुलिस का खौफ होना चाहिए

उन्होंने बताया कि पुलिस का डर होना चाहिए और उन्हें क्षेत्र में ऐसी आपराधिक गतिविधियों को कुचल देना चाहिए. ठाकरे ने कहा, ” पुलिस व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए कि भले ही कहीं पुलिस कर्मी मौजूद नहीं हो, वे दिख नहीं रहे हों, तो भी लोगों को सुरक्षित महसूस होना चाहिए.” उन्होंने कहा कि मीरा भायंदर और वसई विरार के लिए अलग पुलिस आयुक्तालय की आवश्यक्ता लंबे समय से थी.

यह भी पढ़ें- आज दिल्ली आ रहा VVIP ‘एयर इंडिया वन’, जानें राष्ट्रपति-पीएम के इन विमानों की खास खूबियां