कर्नाटक में मंत्री के ठिकानों पर IT की छापेमारी, कुमारस्वामी बोले- कर देंगे बंगाल जैसा हाल

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने एक दिन पहले ही यह अंदेशा जताया था कि दोनों पार्टियों से जुड़े लोगों के खिलाफ आयकर विभाग की छापेमारी हो सकती है.

बेंगलुरु: आयकर विभाग के अधिकारियों ने गुरुवार को कर्नाटक की सत्ताधारी गठबंधन की सरकार वाली पार्टी जनता दल सेक्यूलर (जेडीएस) और कांग्रेस के करीबियों के यहां छापेमारी की. विभाग ने राज्य के लघु सिंचाई मंत्री सीएस पुट्टाराजू और उनके एक रिश्तेदार के घर पर भी छापेमारी की. बेंगलुरु, हसन, मांड्या और मैसूर में कई जगह पर 17 कॉन्ट्रेक्टर और 7 अधिकारियों के यहां आयकर विभाग की छापेमारी जारी है.

इस छापेमारी पर बात करते हुए सीएस पुट्टाराजू ने बताया कि उनके मांड्या स्थित घर पर आयकर विभाग के अधिकारियों ने छापेमारी की और उनके साथ सीआरपीएफ के जवान भी शामिल थे. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उनके भतीजे के यहां पर आयकर विभाग ने छापेमारी की है.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने एक दिन पहले ही यह अंदेशा जताया था कि दोनों पार्टियों से जुड़े लोगों के खिलाफ आयकर विभाग की छापेमारी हो सकती है. इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी को निशाने पर लेकर कहा था कि अगर केंद्र की सरकार सरकारी संस्थाओं का चुनावी मौसम में राजनीतिक प्रतिशोध के लिए इस्तेमाल करती है तो जिस तरह पश्चिम बंगाल में ममता बेनर्जी ने किया था वे भी उस प्रकार का कदम उठाएंगे.

इसके बाद कुमारस्वामी ने कहा, “आईटी के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रियल सर्जिकल स्ट्राइक कर रहे हैं. इस बदले के खेल में आईटी अधिकारी बालाकृष्णा पीएम का साथ दे रहे हैं. चुनाव के समय इस प्रकार सरकारी संस्थाओं का इस्तेमाल कर अपनी प्रतिद्वंद्वी पार्टी को प्रताड़ित करना बहुत ही खेदजनक है.”

वहीं जेडीएस नेता ने मधु बंगराप्पा ने इस आईटी रेड पर बीजेपी को घेरते हुए कहा, “मुख्यमंत्री इस रेड का पहले ही अंदेशा लगा चुके थे, क्योंकि उन्हें इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट से सूचना मिली थी. बीजेपी राजनीतिक खेल खेलने की कोशिश कर रही है. कोई भी रेड बीजेपी नेताओं के घरों पर क्यों नहीं की गई? आईटी रेड सामान्य है लेकिन मैं उनकी टाइमिंग पर सवाल उठा रहा हूं.”