Coronavirus: देश के इन 13 जिले में मरीजों की सबसे ज्यादा मौत, हेल्थ मिनिस्ट्री ने राज्यों को दी ये सलाह

केंद्र (Central Government) ने आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सलाह दी है कि वे कम टेस्टिंग और जांच नतीजों में देरी जैसी समस्याओं को दूर करें.
one in 7 covid-19 death, Coronavirus: देश के इन 13 जिले में मरीजों की सबसे ज्यादा मौत, हेल्थ मिनिस्ट्री ने राज्यों को दी ये सलाह

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus Case in India) मामलों का आंकड़ा 20 लाख पार चुका है. कुछ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के कुछ जिलों में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. इसके मद्देनजर केंद्र (Central Government) ने आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सलाह दी है कि वे कम टेस्टिंग और जांच नतीजों में देरी जैसी समस्याओं को दूर करें. साथ ही मरीजों को समय पर अस्पताल में भर्ती कराने को लेकर सुनिश्चित करने को भी कहा गया है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

इन क्षेत्रों में मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से अधिक

इन आठ राज्यों और केंद्र शासित राज्य के 13 जिलों ने केंद्र सरकार की नींद उड़ा दी है. ऐसा इसलिए, क्योंकि ये वो 13 जिले हैं, जहां पर हर 7 में से 1 व्यक्ति की मौत हो रही है. इन 13 जिलों में कोरोनावायरस का मृत्यु दर ज्यादा है. यहां मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से अधिक रहा है. भारत में कोरोनावायरस के कारण होने वाली मौतों में 14 प्रतिशत हिस्सा इन्हीं क्षेत्रों का है.

जिन 13 क्षेत्रों की बात की गई है, उनमें असम का कामरूप मेट्रो, बिहार का पटना, झारखंड का रांची, केरल का अलापुझा और तिरुवनंतपुरम, ओडिशा का गंजम, उत्तर प्रदेश का लखनऊ, बंगाल का नॉर्थ 24 परगना, हुगली, हावड़ा, कोलकाता और मालदह व दिल्ली शामिल हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण की अध्यक्षता में हुई बैठक में कहा गया कि इन 13 जिलों में एंबुलेंस की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करनी चाहिए. राजेश भूषण की अध्यक्षता में दो उच्च स्तरीय बैठकें शुक्रवार और शनिवार को हुईं.

चार जिलों में रोजाना नए मामलों में इजाफा

शनिवार को हुई बैठक में स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कहा गया कि भारत में कुल 9 प्रतिशत एक्टिव केस और कोरोना से हुई 14 प्रतिशत मौत इन्हीं जिलों में से हैं. साथ ही यह चिंता जाहिर की गई कि प्रति दस लाख की आबादी पर यहां जांच भी कम है, जबकि मरीजों के मिलने का प्रतिशत ज्यादा है. इनमें से चार जिलों में रोजाना नए केसेज में इजाफा हुआ है. और वो जिले हैं- असम में कामरूप मेट्रो, उत्तर प्रदेश में लखनऊ, केरल में तिरुवनंतपुरम और अलाप्पुझा.

सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक, इन जिलों में मरीज़ों को हॉस्पिटल में भर्ती कराने के 48 घंटों के अंदर ही मौत हो रही है. केंद्र ने राज्य सरकार से कहा है कि वो इस बात का ध्यान रखें और समय पर मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराया जाए.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts