भारत और इजरायल बना रहे ऐसी 4 तकनीक, जो मिनटों में बताएंगी कि आप Corona पॉजिटिव हैं या नेगेटिव!

इस खोज के लिए इसी हफ्ते इजरायल (Israel) के वैज्ञानिकों का एक ग्रुप भारत आने वाला है. भारत में इजरायल के राजदूत, रॉन मलकिन ने कहा कि इजरायल के वैज्ञानिक राजधानी दिल्ली के AIIMS में रिसर्च करेंगे.
India and Israel are making Four techniques, भारत और इजरायल बना रहे ऐसी 4 तकनीक, जो मिनटों में बताएंगी कि आप Corona पॉजिटिव हैं या नेगेटिव!

दुनियाभर में कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी का प्रकोप लगातार जारी है. इसी कड़ी में भारत (India) और इजरायल (Israel) के वैज्ञानिक मिल कर चार ऐसे नए तरीकों की खोज करेंगे, जिनसे कोरोना की जांच करना मिनटों का काम होगा. इस खोज के लिए इसी हफ्ते इजरायल के वैज्ञानिकों का एक दल भारत आने वाला है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

भारत और इजरायल मिल कर जिन चार तरीकों की खोज करेंगे, अगर वो सफल हो गए तो ये वाकई में एक गेमचेंजर साबित होगा है.

क्या हैं वो गेमचेंजर तरीके?

  • इनमें से दो Covid-19 टेस्ट ऐसे हैं, जो लार (Saliva) के सैंपल से कुछ मिनटों में परिणाम दे सकते हैं.
  • तीसरा तरीका, जो सबसे अनोखा है. वो यह कि किसी व्यक्ति की आवाज सुन कर ही उसनें कोरोनावायरस का पता लगाया जा सकता है.
  • वहीं चौथे और आखिरी तरीके से सांस के सैंपल के रेडियो वेव से संक्रमण का पता लगाया जा सकेगा.

वैज्ञानिक दिल्ली के AIIMS में करेंगे रिसर्च

भारत में इजरायल के राजदूत, रॉन मलकिन ने कहा कि इजरायल के वैज्ञानिक राजधानी दिल्ली के AIIMS में रिसर्च करेंगे. उन्होंने बताया, “इन तरीकों के टेस्ट का पहला चरण इजरायल में किया जा चुका है. अब अंतिम चरण अब भारत में किया जाएगा.”

’30 मिनट में मिलेगा टेस्ट का रिजल्ट’

इजरायल के रक्षा अनुसंधान और विकास निदेशालय के प्रमुख दानी गोल्ड ने कहा इन चारों तरीकों के बारे में विस्तार से बताया. उन्होंने कहा कि टेस्ट करने के पहले तरीके में पॉलीमिनो एसिड का इस्तेमाल किया गया है, जिससे केवल 30 मिनट में रिजल्ट सामने आ जाते हैं. उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह होगा कि एयरपोर्ट, मॉल या कहीं भी दूसरी जगहों पर एंट्री करने पर आपका टेस्ट किया जा सकता है.

वहीं दूसरे तरीके पर दानी ने कहा कि दूसरा तरीका एक सस्ता बायोकेमिकल टेस्ट है, जिसे घर पर भी किया जा सकता है और 30 मिनट में परिणाम आ जाता है. दोनों ही टेस्ट लार के सैंपल से होते हैं.

‘फोन पर आवाज सुनकर भी हो जाएगा टेस्ट’

दानी गोल्ड ने बताया कि तीसरी टेक्नॉलजी में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) का इस्तेमाल कर किसी व्यक्ति की आवाज को सुनकर यह पता लगाया जा सकता है कि वह कोरोना पॉजिटिव है या नहीं. गोल्ड ने बताया कि इसमें फोन पर आवाज के जरिए भी संक्रमण का पता लगाया जा सकता है, क्योंकि कोरोना सीधे रेस्पिरेटरी सिस्टम पर हमला करता है और इसी आधार पर यह तरीका काम करेगा.

‘तीसरा तरीका होगा एक ब्रीथ एनालाइजर’

गोल्ड के मुकाबिक, तीसरा तरीका एक ब्रीथ एनालाइजर है. इसमें एक व्यक्ति ट्यूब में सांस लेगा. फिर हम उस ट्यूब को एक मशीन में डाल देंगे, जिसमें टेराहर्ट्ज रेडियो फ्रीक्वेंसी और एक एल्गोरिथ्म का इस्तेमाल करके यह बताया जाएगा कि आप संक्रमित हैं या नहीं.”

बता दें कि इस प्रोजेक्ट का नेतृत्व प्रधानमंत्री मोदी के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के विजयराघवन और इजरायली वैज्ञानिक दानी गोल्ड कर रहे हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts