ताइवानी राष्‍ट्रपति के शपथ ग्रहण में BJP सांसदों की वर्चुअल मौजूदगी, चीन बोला- ऐसी हरकत बर्दाश्‍त नहीं

चीनी दूतावास (Chinese embassy) के काउंसलर लियु बिंग (Liu Bing) ने एक ईमेल भेजकर बीजेपी सांसदों के बधाई संदेश पर आपत्ति दर्ज कराई है.
india china tensions, ताइवानी राष्‍ट्रपति के शपथ ग्रहण में BJP सांसदों की वर्चुअल मौजूदगी, चीन बोला- ऐसी हरकत बर्दाश्‍त नहीं

ताइवान की दूसरी बार निर्वाचित राष्ट्रपति (Taiwan’s President) साई इंग-वेन (Tsai’s swearing-in) के शपथ ग्रहण समारोह समारोह में बीजेपी के दो सांसदों की वर्चुअल मौजूदगी रही. इस पर नई दिल्ली में स्थित चीनी दूतावास ने विरोध जताया है. दरअसल बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी और राहुल कासवान ने साई इंग-वेन को बधाई देने के लिए वीडियो मैसेज भेजे थे. बीते हफ्ते उनके शपथ ग्रहण समारोह में ये मैसेज दिखाया गया था.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

इस समारोह में 41 देशों के लगभग 92 गणमान्य व्यक्ति शामिल थे, जिनमें अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ भी शामिल थे. जबकि भारत को आधिकारिक रूप से प्रतिनिधित्व नहीं दिया गया था, बीजिंग भी भारतीय सांसदों की उपस्थिति से नाखुश नजर आया.

चीनी दूतावास ने ईमेल पर जताया विरोध

चीनी दूतावास (Chinese embassy) के काउंसलर लियु बिंग (Liu Bing) ने एक ईमेल भेजकर बीजेपी सांसदों के बधाई संदेश पर आपत्ति दर्ज कराई है. लियु बिंग ने कहा, ‘साई इंग-वेन को निर्वाचित प्रतिनिधियों की तरफ से बधाई संदेश देना भी बेहद गलत था क्योंकि यूएन चार्टर और इसके संकल्पों में ‘वन चाइना पॉलिसी’ (The one-China principle) के सिद्धांत को माना गया है. भारत भी 70 साल पहले द्विपक्षीय संबंध स्थापित होने के बाद से ही ‘वन चाइना पॉलिसी’ को मानता आया है.’

चीनी राजदूत ने आगे लिखा कि अलगावादियों को भेजा बधाई संदेश या कोई भी गलत संकेत उन्हें खतरनाक रास्ते पर जाने के लिए उकसाता है. इससे पूरे क्षेत्र की शांति और सुरक्षा को खतरा हो सकता है.

बता दें भारत हमेशा से ही बीजिंग की ‘वन चाइना पॉलिसी’ को मानता आ रहा है और ताइवान के साथ किसी तरह के कूटनीतिक संबंध स्थापित नहीं किए हैं. वहीं चीन ताइवान को हमेशा से ‘वन नेशन टू सिस्टम’ मानता आया है, जबकि ताइवान खुद को अलग देश बताता है.

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास पिछले कुछ दिनों से चीन की तरफ से सैन्य गतिविधियों के बढ़ने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव है. भारत के अपनी सीमा के अंदर सड़क निर्माण करने पर चीन विरोध जता रहा है. चीन की हरकतों को लेकर भारत भी अलर्ट मोड में है. दोनों देशों की सेनाओं की हाल में सीमा पर गतिविधियां बढ़ीं हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts