H5N1 से मुक्त हुआ भारत, वर्ल्ड आर्गेनाइजेशन फॉर एनिमल हेल्थ ने की घोषणा

बर्ड फ्लू इंसानों के लिए भी घातक है लेकिन ये बीमारी संक्रमित मुर्गियों या अन्य पक्षियों के बेहद निकट रहने से ही फैलती है.

नई दिल्ली: बर्ड फ्लू के नाम से जाना जाने वाला खतरनाक एवियन इन्फ्लूएंजा (H5N1) वायरस से भारत मुक्त हो गया है. वर्ल्ड ऑग्रनाइजेशन फॉर एनिमल हेल्‍थ ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर इस बात की घोषणा की है कि भारत खतरनाक एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस से मुक्त हो गया है. पिछले दो सालों से बिहार, झारखंड समेत कई राज्य बर्ड फ्लू से परेशान था लेकिन वर्ल्ड ऑग्रनाइजेशन फॉर एनिमल हेल्‍थ की इस घोषणा से पशुपालन विभाग ने राहत की सांस ली है.

H5N1 के नाम से जाना जाने वाला एवियन इन्फ्लूएंजा सबसे अधिक पक्षियों को प्रभावित करता है. बर्ड फ्लू के नाम से जाना जाने वाला यह खतरनाक वायरस का संक्रमण इंसानों में भी होता है. हालांकि यह इंसानों से इंसानों के बीच नहीं फैलता. बर्ड फ्लू इंफेक्शन चिकन, टर्की, गीस और बतख की प्रजाति जैसे पक्षियों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है. सबसे ज्यादा पॉपुलर बर्ड फ्लू वायरस एच5एन1 है जिससे कि इंसान की और पक्षियों की मौत हो जाती है.

बर्ड फ्लू इंसानों के लिए भी घातक है लेकिन ये बीमारी संक्रमित मुर्गियों या अन्य पक्षियों के बेहद निकट रहने से ही फैलती है. इंसानों में एवियन इन्फ्लूएंजा (H5N1) वायरस उनकी आंखों, मुंह और नाक के जरिए फैलता है. समय पर उपचार न करने पर इस वायरस से इंसान के कई अंग फेल हो कर काम करना बंद कर देते हैं.