देश में घट रहे कोरोना संक्रमण के नए मामले, दुनिया में फिर से पहले नंबर पर अमेरिका

अमेरिका (America) ने गुरुवार और शुक्रवार को 66,131 और 71687 नए मामले दर्ज किए. वहीं भारत में गुरुवार को 64,237 जबकि शुक्रवार को 62,587 नए मामले दर्ज किए गए.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 9:07 am, Sun, 18 October 20
corona
कोरोना (file photo)

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के संक्रमितों में कमी के साथ ही एक्टिव मामलों की संख्या भी कम हो रही है. इसके अलावा अब एक और राहत की ख़बर है. दुनियाभर में कोरोना के रोज़ाना के सबसे ज़्यादा मामलों के बाद एक बार फिर भारत पहले की जगह अब दूसरे नंबर पर पहुंच गया है. क़रीब दो महीने तक भारत में रोज़ाना के संक्रमितों की संख्या दुनियाभर में सबसे ज़्यादा थी.

अमेरिका एक बार फिर कोरोना संकमण के डेली संक्रमितों के मामले में अब भारत से आगे निकला है. गुरुवार और शुक्रवार को अमेरिका में भारत के मुकाबले ज़्यादा कोरोनावायरस के मामले दर्ज किए गए. ये 6 अगस्त के बाद पहली बार है कि अमेरिका सिंगल डे नंबर्स में भारत से आगे है.

ये भी पढ़ें-कोरोना वैक्सीन Tracker: देश में पहले चरण में 30 करोड़ लोगों को लगाया जाएगा टीका

क्या कहते हैं आंकड़े

Worldometer के जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका ने गुरुवार और शुक्रवार को 66,131 और 71687 नए मामले दर्ज किए. वहीं भारत में गुरुवार को 64,237 जबकि शुक्रवार को 62,587 नए मामले दर्ज किए गए. ये कुल 71 दिनों बाद है कि अमेरिका फिर से इन आंकड़ों में आगे हो गया है. इन 71 दिनों में रोज़ाना कोरोना संक्रमितों की संख्या के मामले में भारत आगे था.

कुल संक्रमितों में भी अमेरिका आगे

कुल मामलों की बात करें तो 8.3 कोरोना संक्रमितों के साथ अमेरिका सबसे ज़्यादा प्रभावित देशों की लिस्ट में अब भी टॉप पर है. वहीं 7.5 मिलियन मामलों के साथ भारत दूसरे स्थान पर है. उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों तक अमेरिका में इसी तरह से रोज़ाना संक्रमितों की संख्या आती रहेगी.

भारत में 17 सितंबर को आए सबसे ज़्यादा केस

17 सितंबर को देश में सबसे ज़्यादा 98000 कोरोनावायरस के मामले दर्ज किए गए. हालांकि इसके बाद धीरे-धीरे इस आंकड़े में कमी आती गई. अब तक अमेरिका में 2 लाख 23 हज़ार लोगों की कोरोनावायरस के चलते मौत हो चुकी है. वहीं भारत में 1 लाख 13 हज़ार 784 लोगों ने कोरोनावायरस के चलते जान गंवाई है. शनिवार को देश में 62 हज़ार से ज़्यादा केस दर्ज किए गए.

ये भी पढ़ें-देश में एक से अधिक कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की तैयारी, ये है बड़ी वजह