अफगानिस्तान में बचाई गई नाबालिग-गुरुद्वारे से अगवा सिख नेता समेत 11 को VISA, आज आएंगे दिल्ली

करीब 700 सिख और हिंदुओं (Sikhs and Hindus) ने भारत आने की अपील की है. कोरोनावायरस (Coronavirus) के प्रकोप और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के स्थगित होने के कारण अफगानिस्तान (Afghanistan) से इन लोगों को लाने की प्रकिया ठप पड़ गई थी.
india grant visas for 11 afghanistan sikhs, अफगानिस्तान में बचाई गई नाबालिग-गुरुद्वारे से अगवा सिख नेता समेत 11 को VISA, आज आएंगे दिल्ली
PS- Facebook

काबुल (Kabul) के शोर बाजार में स्थित गुरुद्वारे पर हुए इस्लामिक स्टेट के हमले (Attack in Gurudwara) के चार महीने बाद काबुल में भारतीय एम्बेसी (Indian Embassy) ने 11 अफगान सिखों (11 Afhganistan Sikhs) को शॉर्ट-टर्म वीजा दिया है. अफगान के इन सिखों की आज यानी रविवार को दिल्ली (Delhi) पहुंचने की उम्मीद है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

अफगानिस्तान में खतरें में सिख और हिंदू

अफगानिस्तान में काफी समय से आतंकियों द्वारा सिखों को निशाना बनाया जा रहा है, ताकि भारत को चोट दी जा सके. काबुल के गुरुद्वारे में हुए आतंकी हमले में 25 सिखों की मौत हुई थी. अफगानिस्तान में सिख लड़कियों की फॉर्स्ड मैरिज के मामले भी सामने आए और अब हाल ही में सिख समुदाय के नेता निदान सिंह सचदेवा का अपहरण हुआ. हालांकि उन्हें बाद में छोड़ दिया गया है.

नाबालिग का धर्मपरिवर्तन कर शादी की कोशिश

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, काबुल में सिख समुदाय के नेता चाबुल सिंह ने बताया कि शनिवार को भारतीय दूतावास ने जिन लोगों को वीजा दिया है उनमें निदान सिंह भी शामिल हैं. निदान सिंह को पकटिया प्रांत में स्थित गुरुद्वारे से पिछले महीने अगवा कर लिया गया था. निदान सिंह के अलावा 15 वर्षीय वो नाबालिग लड़की है, जिसे कथित जबरन धर्मपरिवर्तन और शादी के प्रयास के बाद रेस्क्यू किया गया.

चाबुल सिंह ने कहा कि हमें 11 लोगों का छह महीने के वीजा मिला है, जिनमें निदान सिंह भी हैं और अपहरण के दौरान हुए टॉर्चर के बाद से वो काफी बीमार हैं. निदान सिंह के साथ उनके रिश्तेदार को वीजा मिला है. काबुल हमले में मारे गए दो भाइयों के परिवार भी भारत जा रहे हैं. उनमें से एक की बेटी जिसे जबरन शादी के चंगुल से बचाया गया, उसे भी भेजा जा रहा है.

सिरसा ने उठाई 11 सिखों के रहने की जिम्मेदारी

वहीं दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि उन्होंने 11 लोगों के लिए टिकट और रहने की व्यवस्था की है, जो कि वंदे भारत मिशन के तहत काम एयर फ्लाइट से रविवार को दिल्ली पहुंच रहे हैं.

यह कदम अफगान सिख समुदाय द्वारा दूतावास से कई अपील करने और गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर 25 मार्च को गुरु हर राय साहिब गुरुद्वारे में हमले के बाद तत्काल निकासी और बचाव की मांग करने के बाद उठाया गया है. करीब 700 सिख और हिंदुओं ने भारत आने की अपील की है. कोरोनावायरस के प्रकोप और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के स्थगित होने के कारण अफगानिस्तान से इन लोगों को लाने की प्रकिया ठप पड़ गई थी.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts