नेपाल में भूकंप से उजड़े घरों और स्कूलों को बसाएगा भारत, दिए 96 करोड़ रुपए

2015 भूकंप (Earthquake) से नेपाल (Nepal) में उजड़े हाउसिंग और स्कूल सेक्टर को दोबारा बसाने में भारत सहायता करेगा. इसके लिए भारत ने करीब 154 करोड़ नेपाली रुपए की सहायता राशि नेपाल सरकार को दी है.

nepal earthquake

भारत (India) ने नेपाल को भूकंप से क्षतिग्रस्त हाउसिंग और स्कूल सेक्टर को दोबारा बसाने में सहायता के लिए 96 करोड़ रुपए (करीब 154 करोड़ नेपाली रुपए) दिए हैं. भारत सरकार की हिमालयी देशों में भूकंप (Earthquake) के बाद पुनर्निर्माण प्रतिबद्धता के तहत ये राशि नेपाल को दी गई है.

भारतीय दूतावास के मिशन के डिप्टी चीफ नम्या खम्पा ने 1.54 बिलियन नेपाली रुपए का चेक नेपाल वित्त मंत्रालय के सचिव शिशिर कुमार धूंगाना को 22 सितंबर को सौंपा. गुरुवार को काठमांडू स्थित भारतीय दूतावास ने बयान जारी कर इसकी जानकारी दी.

यह भी पढ़ें : नेपाल समेत भारत के इस हिस्से में महसूस किए गए भूकंप के झटके

बयान में कहा गया कि इस हैंडओवर के साथ भारत ने नेपाल में हाउसिंग सेक्टर के पुनर्निर्माण के लिए 72 मिलियन डॉलर नेपाल सरकार को दिए हैं. भारत सरकार की सहायता से गोरखा और नुवाकोट जिलों में 50,000 घरों के पुनर्निर्माण का काम 92 प्रतिशत पूरा हो गया है.

इसी के तहत भारत 50 मिलियन डॉलर अनुदान से 70 स्कूलों और एक लाइब्रेरी के पुनर्निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है. बयान में कहा गया कि इसमें से 4.2 मिलियन डॉलर की पहली किश्त पहले से चल रहे स्कूलों के लिए दी गई है.

2015 में आया था भूकंप

भारत ने हाउसिंग सेक्टर प्रोजेक्ट के लिए 150 मिलियन डॉलर के अनुदान और लाइन ऑफ क्रेडिट का वादा किया है. बयान में कहा गया कि भारत सरकार भूंकप के बाद नेपाल की जनता और नेपाल सरकार की मदद के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है.

बता दें कि अप्रैल 2015 में 7.8 रिक्टर स्केल तीव्रता वाले भूकंप ने नेपाल में तबाही मचाई थी. इसमें करीब 9,000 लोग मारे गए थे और 20,000 से अधिक लोग घायल हो गए थे. इसके बाद से अपने पड़ोसी हिमालयी देशों में पुनर्निर्माण प्रोजेक्ट के लिए भारत आगे आया था.

Related Posts