Weather Updates: 29-30 मई को आंधी-बारिश के आसार, भीषण गर्मी और लू से मिलेगी राहत

IMD के अनुसार, 28 मई के बाद Delhi-NCR वासियों को भीषण गर्मी से राहत मिल सकती है. साथ ही, 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है, जिससे लू का प्रकोप भी काफी हद तक कम हो जाएगा.
India Meteorological Department IMD, Weather Updates: 29-30 मई को आंधी-बारिश के आसार, भीषण गर्मी और लू से मिलेगी राहत

दिल्‍ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में पिछले कुछ दिनों से बेतहाशा गर्मी पड़ रही है. यहां पर पारा 45 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंचने के बाद गर्मी अपने चरम पर पहुंच गई है. Delhi-NCR के लोगों को अभी 2-3 दिन और ऐसी ही भीषण गर्मी झेलनी होगी.

उत्तर भारत के लिहाज से 25-26 मई के लिए रेड अलर्ट

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने रविवार को उत्तर भारत के लिहाज से 25-26 मई के लिए रेड अलर्ट जारी किया है जहां लू का प्रकोप अपने चरम पर हो सकता है. राजस्थान के चुरू में सोमवार को अधिकतम तापमान 47.5 सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

दिल्ली-एनसीआर के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियम को छू गया. वहीं, उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद सोमवार को सबसे ज्यादा गर्म रहा. यहां पर अधिकतम तापमान 46.3 रिकॉर्ड किया गया.

मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि 28 मई के बाद दिल्‍ली-एनसीआर वासियों को भीषण गर्मी से राहत मिल सकती है. साथ ही, 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है, जिससे लू का प्रकोप भी काफी हद तक कम हो जाएगा.

मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में पिछले कुछ दिन से जबरदस्त गर्मी पड़ रही है और कहीं-कहीं तो तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के ऊपर तक पहुंच जाता है.

धूल भरी आंधी चलने व गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना

IMD के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ और पुरवाई हवाओं के कारण दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने तथा गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है.

श्रीवास्तव ने कहा, “इस अवधि में हवा की रफ्तार करीब 50-60 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है जिससे भीषण गर्मी से राहत मिलेगी. पश्चिमी विक्षोभ एक चक्रवाती तूफान है जो भूमध्यसागर से पैदा होकर मध्य एशिया में से गुजरता है. हिमालय के संपर्क में आने पर इससे पहाड़ों और मैदानों पर बारिश होती है.”

IMD के अनुसार, उत्तर पश्चिम भारत, मध्य भारत के मैदानी भागों और इससे लगे पूर्वी भारत के आंतरिक हिस्सों में शुष्क उत्तर-पश्चिमी हवाएं चलने से 28 मई तक इन क्षेत्रों में लू चलने की संभावना है जो 25 और 26 मई को अपने प्रचंड रूप में रह सकती है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts