विदेशियों के लिए भारत ने खोले दरवाजे, जानें किन-किन कैटेगरी के लोगों को मिलेगा वीजा

फिलहाल शेड्यूल्ड इंटरनेशनल पैसेंजर फ्लाइट्स पर इस महीने के आखिर तक रोक लगी हुई है. हालांकि ये नियम अंतरराष्ट्रीय कार्गो ऑपरेशन और DGCA द्वारा मान्य कुछ विमानों पर लागू नहीं है. भारत ने 11 मार्च को विदेशियों को दिए वीजा पर रोक लगा दी थी.
India opened doors to foreigners, विदेशियों के लिए भारत ने खोले दरवाजे, जानें किन-किन कैटेगरी के लोगों को मिलेगा वीजा

कोरोना (Coronavirus) महामारी को रोकने के लिए देश भर में लॉकडाउन लगाया गया. लॉकडाउन (Lockdown) के पहले से ही देश में विदेशी नागरिकों के आने पर रोक लगा दी गई थी. अब केंद्र सरकार ने एक बार फिर विदेशी नागरिकों की भारत यात्रा पर लगे प्रतिबंधों को धीरे-धीरे हटाने का फैसला लिया है. हालांकि इस दौरान सिर्फ कुछ कैटेगरी के विदेशी नागरिकों को भारत आने की इजाजत होगी और उन्हें ही वीजा (VISA) दिया जाएगा.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

इन विदेशियों में व्यापारी वर्ग भी शामिल हैं, जो बिजनेस वीजा के जरिए भारत आ सकेंगे. हालांकि B-3 वीजा धारकों को अभी देश में आने की इजाजत नहीं होगी. ये लोग कमर्शियल चार्टेड विमानों (Commercial chartered planes) के जरिए भारत आ सकेंगे. एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक गृह मंत्रालय के आदेश के बाद नॉन शेड्यूल कमर्शियल चार्टेड विमानों को विदेशों से भारत आने की इजाजत दी गई है.

मालूम हो कि फिलहाल शेड्यूल्ड इंटरनेशनल पैसेंजर फ्लाइट्स पर इस महीने के आखिर तक रोक लगी हुई है. हालांकि ये नियम अंतरराष्ट्रीय कार्गो ऑपरेशन और DGCA द्वारा मान्य कुछ विमानों पर लागू नहीं है. भारत ने 11 मार्च को विदेशियों को दिए वीजा पर रोक लगा दी थी.

इन विदेशी नागरिकों को मिलेगी भारत आने की इजाजत

  • विदेशी कारोबारी जो बिजनेस वीजा पर (बी-3 वीजा धारकों (स्‍पोर्ट्स) से अलग) आना चाहें वो नॉन शेड्यूल्‍ड कमर्शियल चार्टेड फ्लाइट से आ सकते हैं.
  • विदेशी हेल्थकेयर प्रोफेशनल, हेल्थ रिसर्चर, भारतीय हेल्थ सेक्टर सुविधाओं में और लेबोरेट्री में काम करने वाले इंजीनियर और टेक्निशियन को वीजा मिलेगा. हालांकि इसके लिए उन्हें भारत की किसी रजिस्टर्ड कंपनी, यूनिवर्सिटी से भेजा गया इन्विटेशन लेटर दिखाना होगा.
  • भारत में स्थित विदेशी बिजनेस संस्थाओं के लिए इंजीनियर और अन्य विशेषज्ञों को भी वीजा मिलेगा. इसमें सभी मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट्स, डिजाइन यूनिट्स, सॉफ्टवेयर और आईटी के साथ फाइनेंशियल सेक्टर की कंपनियां शामिल हैं.
  • विदेशों से भारत आईं मशीनों को ठीक करने के लिए आने वाले विदेशी विशेषज्ञों को भी भारत आने की मंजूरी मिलेगी. हालांकि इसके लिए उन्हें भारत में मौजूद संस्था से भेजा गया इन्विटेशन लेटर दिखाना होगा.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts