रजिस्ट्रेशन फीस पर नहीं बनी बात, करतारपुर कॉरिडोर समझौते पर भारत-पाकिस्तान ने किए हस्ताक्षर

पाकिस्तान स्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारे में प्रवेश के लिए बने इस कॉरिडोर का 8 नवंबर को भारत की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्धघाटन करेंगे. वहीं पाकिस्तान की तरफ से 9 नवंबर को इसका उद्धघाटन होगा.
करतारपुर, रजिस्ट्रेशन फीस पर नहीं बनी बात, करतारपुर कॉरिडोर समझौते पर भारत-पाकिस्तान ने किए हस्ताक्षर

भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों ने गुरुवार को करतारपुर कॉरीडोर समझौते पर हस्ताक्षर कर दिए हैं. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नरोवाल जिले में स्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारा डेरा बाबा नानक के पास की सीमा से महज 4.5 किलोमीटर की दूरी पर है. यह पवित्र स्थल कॉरिडोर (गलियारे) के माध्यम से पूरे वर्ष भारतीय तीर्थ यात्रियों के लिए सुलभ रहेगा.

मालूम हो कि पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारे में प्रवेश के लिए बने इस कॉरिडोर का 8 नवंबर को भारत की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्धघाटन करेंगे. वहीं पाकिस्तान की तरफ से 9 नवंबर को इसका उद्धघाटन होगा. हालांकि इस कॉरिडोर समझौते पर हस्ताक्षर होने में इतना समय इसलिए लगा क्योंकि भारत और पाकिस्तान के बीच तीर्थ यात्रियों पर लगाए शुल्क को लेकर समझौता नहीं हो रहा था.

दरअसल पाकिस्तान इस कॉरिडोर का इस्तेमाल करने वाले तीर्थ यात्रियों पर प्रति यात्री 20 डॉलर की रजिस्ट्रेशन फीस लगा रहा था. हालांकि इस राशि को कम करने के लिए भारत ने कई बार आग्रह किया. हालांकि आर्थिक तौर पर तंगी झेल रहे पाकिस्तान ने इस अवसर को लपकते हुए यात्रियों पर रजिस्ट्रेशन फीस कम न करने का फैसला बरकरार रखा.

ये भी पढ़ें: टिकटॉक स्टार सोनाली फोगाट का नहीं चला जादू, जानें हरियाणा के VIP कैंडिडेट्स का हाल

Related Posts