कश्मीर पर तनाव के बीच करतारपुर कॉरिडोर पर भारत-पाक अधिकारियों की हुई बैठक

दोनों पक्षों के बीच शुक्रवार को बॉर्डर स्थित जीरो पॉइंट पर तकनीकी बैठक होगी. 

नई दिल्ली: कश्मीर मसले को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ने के बावजूद दोनों देशों के अधिकारी आज (शुक्रवार) को मिलकर करतारपुर कॉरिडोर प्रॉजेक्ट पर बातचीत हो गई है.

इससे पहले पाकिस्तान विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने कहा था कि दोनों पक्षों के बीच शुक्रवार को बॉर्डर स्थित जीरो पॉइंट पर तकनीकी बैठक होगी.

बैठक की दी जानकारी

पाकिस्तान विदेश कार्यालय के प्रवक्ता फैजल ने गुरुवार को इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा था कि, ‘पाकिस्तान के प्रस्ताव से भारत सहमत है और करतारपुर साहिब गलियारे को लेकर तकनीकी बैठक 30 अगस्त को जीरो पॉइंट पर होने जा रही है.’

उन्होंने कहा था कि, ‘पाकिस्तान अपने प्रधानमंत्री की घोषणा के अनुसार, करतारपुर साहिब गलियारे को पूरा करने और इसका उद्घाटन करने को लेकर प्रतिबद्ध है.’

सितंबर के पहले बैठक का प्रस्ताव

करतापुर कॉरिडोर को लेकर भारत लगातार कदम उठा रहा है. अब भारत ने पाकिस्तान के सामने सितंबर के पहले हफ्ते में करतापुर कॉरिडोर पर बैठक का प्रस्ताव रखा है.

सूत्रों के मुताबिक भारत ने करतारपुर कॉरिडोर के समझौते को अंतिम रूप देने के लिए सितंबर के पहले हफ्ते की तारीखों का प्रस्ताव पाकिस्तान के आगे रखा है. वहीं भारत ने पाकिस्तान के आगे ये प्रस्ताव ऐसे वक्त में रखा है जब जम्मू कश्मीर को लेकर दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण हालात बने हुए हैं.

नवंबर में खुलेगा करतारपुर गलियारा

पाकिस्तान की ओर से जानकारी दी गई थी कि वह सीमापार करतारपुर गलियारा परियोजना का काम जारी रखेगा और सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर नवंबर में इसे खोलेगा.

पाकिस्तान में रावी नदी के तट पर स्थित करतारपुर गुरुद्वारा भारत के गुरुदासपुर जिला स्थित डेरा बाबा नानक श्राइन से करीब चार किलोमीटर दूर है. यह लाहौर से करीब 120 किलोमीटर उत्तर-पूर्व में है.

ये भी पढ़ें- भारत को एयरस्पेस बंद करने की दी धमकी, सच्चाई पता चली तो आ गए पाकिस्तान के होश ठिकाने

ये भी पढ़ें- पाकिस्‍तान ने किया ‘गजनवी’ मिसाइल का टेस्‍ट, आर्मी प्रवक्‍ता ने ऐसे बताया हो गए ट्रोल