COVID-19 वैक्सीन विकसित करने के फास्‍ट ट्रैक मोड में इंडियन फार्मेसी

भारत में COVID-19 के कुल मामलों में से 86% मामले सिर्फ 10 राज्यों तक ही सीमित है इनमें से 2 राज्य- महाराष्ट्र और तमिलनाडु में 50% मामले हैं और 8 अन्य राज्यों में 36% मामले हैं.
COVID-19 vaccine, COVID-19 वैक्सीन विकसित करने के फास्‍ट ट्रैक मोड में इंडियन फार्मेसी

कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) से इन दिनों भारत (India) समेत दुनिया (World) के कई देश जूझ रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक संक्रमण के कुल केस 906752 हो गए हैं.

भारत में एक्टिव मामलों के मुकाबले रिकवरी केस ज्यादा हैं. भारत में एक्टिव केस 311565 है. संक्रमण से ठीक होने वालों की संख्या 571459 हो गई है. वहीं मौत का कुल आंकड़ा बढ़कर 23727 हो गया है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

रिकवरी रेट में लगातार सुधार

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में मई में रिवकरी रेट लगभग 26% था, मई के अंत तक यह लगभग 48% हो गया, जुलाई आने तक यह लगभग 63% हो गया है. मार्च में प्रतिदिन मामलों के बढ़ने की गति लगभग 31% थी, मई में वो 9% हो गई, मई के अंत तक वो लगभग 5% हो गई अगर हम 12 जुलाई के आंकड़े देखें तो यह 3.24% है.

86% मामले सिर्फ 10 राज्यों तक ही सीमित

भारत में कोरोना के कुल मामलों में से 86% मामले सिर्फ 10 राज्यों तक ही सीमित है इनमें से 2 राज्य- महाराष्ट्र और तमिलनाडु में 50% मामले हैं और 8 अन्य राज्यों में 36% मामले हैं. सभी राज्यों को बताया है कि कंटेनमेंट क्षेत्र में सख्ती नहीं करेंगे को मामले बढ़ेंगे. ऐसे में राज्यों को सख्त कदम उठाना पड़ेगा. WHO के अनुसार अगर हम प्रति 10 लाख जनसंख्या पर 140 लोगों का टेस्ट प्रति दिन करते हैं तो यह कॉम्प्रिहेंसिव टेस्टिंग है, भारत में 22 राज्य ऐसे हैं जिनमें प्रतिदिन 10 लाख जनसंख्या पर 140 से अधिक लोगों का टेस्ट किया जा रहा है.

फास्‍ट ट्रैक मोड में इंडियन फार्मेसी

ICMR के मुताबिक कोरोना सिर्फ फेफड़ों को ही नहीं शरीर के दूसरे अंदरूनी अंगों को प्रभावित करता है. कोविड से निजात पाने वालों को किस तरह की दिक्कत आ रही है उस पर विमर्श चल रहा है. भविष्य में मंत्रालय दिशानिर्देश जारी कर सकता है. इंडियन फार्मेसी COVID-19 वैक्सीन विकसित करने के फास्‍ट ट्रैक मोड में काम कर रही है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि दवा के दाम का मसला फार्मास्यूटिकल मंत्रालय का है, जल्द वैक्सीन के लिए प्रयास हो रहे हैं. दिल्ली में सीरो सर्वो के तहत 22 हजार से ज्यादा सैम्पल लिए जाने हैं जो 25 जुलाई तक कलेक्ट किए जाएंगे. इसे अध्ययन, सुझाव और समीक्षा के बाद सार्वजनिक किया जाएगा.

भारत में स्थिति बेहतर 

भारत में प्रति 10 लाख जनसंख्या पर कोरोना के कारण होने वाली मौंतों की संख्या 17.2 है जबकि दूसरे देशों में यह भारत से 35 गुना है. भारत में प्रति 10 लाख जनसंख्या पर कोरोना मामलों की संख्या 657 हैं हम दुनिया के उन देशों में से हैं जिनमें प्रति 10 लाख जनसंख्या पर COVID के मामले सबसे कम हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts