भारत ने ठुकराई RCEP डील, कांग्रेस बोली- विपक्ष के मजबूत विरोध का नतीजा

RCEP डील को लेकर गृहमंत्री अमित शाह, बीजेपी कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला, प्रियंका गांधी ने भी प्रतिक्रिया दी है.

भारत ने सोमवार को रीजनल कॉम्प्रिहेंसिव इकोनॉमिक पार्टनरशिप (RCEP) समझौते में शामिल होने से इनकार कर दिया है. भारत ने निर्णय लिया कि वह 16 देशों के आरसीईपी व्यापार समझौते का हिस्सा नहीं बनेगा.

सरकार के इस फैसले को विपक्ष के मजबूत विरोध का नतीजा बताते हुए कांग्रेस ने ट्वीट किया. जिसमें लिखा, कांग्रेस द्वारा एक मजबूत विरोध के परिणाम स्वरूप बीजेपी सरकार ने RCEP समझौते पर अपना निर्णय वापस लिया. यह उन लाखों किसानों, डेयरी उत्पादकों, मछुआरों और छोटे और मध्यम व्यवसायों की जीत है.

बीजेपी ने इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व और संकल्प का संकेत बताया. सरकार के सूत्रों ने कहा कि भारत ने सोमवार को RCEP सौदे में शामिल नहीं होने का फैसला किया क्योंकि यह भारत के मुद्दों और चिंताओं से मेल नहीं खाता है.

गृह मंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि निर्णय से भारत के किसानों, MCME क्षेत्र, डेयरी और विनिर्माण क्षेत्रों को समर्थन मिलेगा. “RCEP पर साइन नहीं करने का भारत का निर्णय प्रधानमंत्री मोदी के मजबूत नेतृत्व और सभी परिस्थितियों में राष्ट्रीय हित सुनिश्चित करने के संकल्प का एक परिणाम है.”

इसी मामले को लेकर प्रियंका गांधी ने भी दो ट्वीट किए जिसमें उन्होंने लिखा-

वहीं कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर लिखा-

वहीं बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने भी प्रधानमंत्री की प्रशंसा की है. उन्होंने कहा कि वह वैश्विक दबाव के आगे झुके नहीं. नड्डा ने ट्वीट कर कहा, “भारत वैश्विक दबाव के आगे नहीं झुका और अपने आर्थिक हितों को पिछली कांग्रेस नेतृत्व वाली सरकारों के फैसले के उलट छोड़ दिया.”

उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने भारतीय बाजारों को कमजोर एफटीए के जरिए खोला था. बीजेपी कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि पीएम मोदी ने फिर से गरीबों के हितों की रक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है.

RCEP Congress BJP, भारत ने ठुकराई RCEP डील, कांग्रेस बोली- विपक्ष के मजबूत विरोध का नतीजा

 

ये भी पढ़ें-

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री के साथ मोदी की मुलाकात, निशाने पर रहा आतंकवाद

भारत RCEP से बाहर: बीजेपी ने मोदी के कदम को सराहा, कांग्रेस ने कहा ‘विपक्ष के विरोध की विजय’