एक झटके में ड्रैगन की फौज को बर्फ की कब्र में दफ्न कर सकता है भारत का सीक्रेट हथियार ‘KALI’

सीक्रेट हथियार "KALI" एक वार से ही दुश्मन के एयरक्राफ्ट को हवा में आग का गोला बना सकता है. यही नहीं दुश्मन का ताकतवर टैंक भी सीक्रेट हथियार का अटैक नहीं सह सकता और उसके परखच्चे उड़ सकते हैं.

भारत का एक सीक्रेट हथियार जिसका नाम सुनते ही चीन को पाकिस्तान का हश्र याद आ जाता है. क्योंकि पाकिस्तान ही कहता है कि उसपर भारत का ये सीक्रेट हथियार एक बार कहर बरपा चुका है और अगर ये चीन के खिलाफ भी निकल गया तो उसकी रोबोट सेना का अंजाम सोचे से भी बुरा होगा. हम जिस हथियार की बात कर रहे हैं वो है काली यानी (किलो एंपीयर लीनियर इंजेक्टर).

यह इतना ताकतवर है कि बिना आवाज और बिना धमाके के हिमालय में एवलांच ला दे और PLA की सेना चंद सेकंड में बर्फ में दफ्न हो जाए. सीक्रेट हथियार एक वार से ही दुश्मन के एयरक्राफ्ट को हवा में आग का गोला बना सकता है. यही नहीं दुश्मन का ताकतवर टैंक भी सीक्रेट हथियार का अटैक नहीं सह सकता और उसके परखच्चे उड़ सकते हैं.

चीन के लिए काल साबित होगा

टैंक, एयरक्राफ्ट से साथ ही मिसाइल लॉन्चर और उसका पूरा इंस्टालेशन तबाह करना भी काली के लिए चंद सेकंड का काम है. यानी काली एक ऐसा सीक्रेट हथियार है जिसका एक वार युद्द में चीन के लिए काल साबित होगा. सीक्रेट हथियार ‘KALI’ यानी किलो एंपीयर लीनियर इंजेक्टर, जो एक झटके में ड्रैगन की फौज, टैंक, तोप, गोला-बारूद को बर्फ की कब्र में दफ्न कर सकता है.

इससे निकलने वाली चुंबकीय तरंगे बहुत ताकतवर

काली फाइव थाउजैंड में ऊर्जा का अपार भंडार है. इससे निकलने वाली चुंबकीय तरंगे इतनी ताकतवर हैं जो किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवास को एक वार में कबाड़ बना दें. काली इलेक्ट्रै मैग्नेटिक तरंगों की ऐसी बौछार करती है जिससे कोई भी जंगी हथियार बेदम हो जाए.

काली मिसाइलों और जंगी जहाजों के साथ ही ड्रोन और यहां तक की अंतरिक्ष में घूम रही सैटेलाइट को भी मार गिरा सकता है.. और हिंदुस्तान के इसी गुप्त हथियार से चीन डरा हुआ है. इस वीडियो में देखें ये पूरी रिपोर्ट-

Related Posts