भारत-श्रीलंका वर्चुअल समिट: बौद्ध संबंधों को बढ़ावा देने के लिए 15 मिलियन डॉलर देगा भारत

भारत-श्रीलंका वर्चुअल शिखर सम्मेलन में PM मोदी (Narendra Modi) न कहा कि मैं महिंदा राजपक्षे को श्रीलंका (Sri Lanka) का पीएम पद ग्रहण करने के लिए बधाई देता हूं. भारत-श्रीलंका का बहुमुखी संबंध हजारों साल पुराना है.

पीएम नरेंद्र मोदी और महिंदा राजपक्षे

पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के साथ एक वर्चुअल समीट में बात करते हुए कहा कि भारत ने अपनी ‘पहले पड़ोसी’ नीति और सिक्योरिटी एंड ग्रोथ फॉर ऑल इन रीजन (SAGAR) सिद्धांत में श्रीलंका को प्राथमिकता दी है. भारत ने बौद्ध संबंधों को बढ़ावा देने के लिए श्रीलंका को 15 मिलियन डॉलर की अनुदान सहायता भी दी है. इसके अलावा बैठक में द्विपक्षीय संबंधों के विस्तार और प्रमुख क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने पर भी चर्चा हुई है.

पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों की बीच हजारों साल पुराना संबंध है. साथ ही भारत आने का निमंत्रण स्वीकार करने के लिए मोदी ने महिंदा राजपक्षे को धन्यवाद भी दिया.

पीएम ने कहा, “हमारे बीच में बहुत पुराने जमाने से कनिष्ठ संबंध और प्रेम है और ये हमेशा ऐसे ही बना रहेगा. पूरी दुनिया कोरोना महामारी की वजह से संकट में है और आपने दोनों देशों के लिए तथा अन्य देशों की सुरक्षा के लिए, जिस प्रकार काम किया मैं उसके लिए कृतज्ञता प्रकट करता हूं.”

भारत-श्रीलंका वर्चुअल द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन में मोदी न कहा कि मैं महिंदा राजपक्षे को श्रीलंका का पीएम पद ग्रहण करने के लिए बधाई देता हूं. भारत-श्रीलंका का बहुमुखी संबंध हजारों साल पुराना है. मेरी सरकार की नेबरहुड फर्स्ट नीति के तहत श्रीलंका से संबंधो को हम विशेष और उच्च प्राथमिकता देते हैं.

“कोरोना के प्रतिबंधों के बावजूद एक सफल वर्चुअल समिट”

इसके बाद विदेश मंत्रालय (MEA) के हिंद महासागर क्षेत्र प्रभाग के संयुक्त सचिव अमित नारंग ने बताया कि भारत-श्रीलंका वर्चुअल समिट के दौरान हमारे पीएम ने दोनों देशों के बीचे बौद्ध धर्म के रिश्ते को मजबूत करने के लिए 15 मिलियन US डॉलर की सहायता की घोषणा की हैं.

अमित नारंग ने आगे कहा कि कोरोना के प्रतिबंधों के बावजूद एक सफल वर्चुअल समिट द्विपक्षीय रिश्तों को आगे ले जाने की नेताओं के स्तर पर प्रतिबद्धता की हाई डिग्री को दर्शाता है.

भारत की UNGA में पाकिस्तान को लताड़, कहा- इमरान खान ने बेशर्मी से फैलाया झूठ

Related Posts