न्यूक्लियर मिसाइल K-4 का टेस्‍ट सफल, पनडुब्‍बी से 3500KM तक करती है मार

मिसाइल को भारत द्वारा निर्मित की जा रही अरिहंत श्रेणी की परमाणु पनडुब्बियों के बेड़े पर तैनात किए जाने के लिए विकसित किया जा रहा है.

भारत ने आंध्र प्रदेश में पनडुब्बी से 3500 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम न्यूक्लियर बैलिस्टिक मिसाइल K-4 का सफलतापूर्वक परिक्षण किया है. DRDO द्वारा विकसित की गई इस मिसाइल को नौसेना के स्वदेशी आईएनएस अरिहंत श्रेणी के परमाणु संचालित पनडुब्बियों पर लैस किया जाएगा.

सूत्रों के रविवार सुबह समुद्र में पानी के भीतर से एक अंडरग्राउंड प्लेटफॉर्म से मिसाइल को 1,500 किलोमीटर की दूरी पर टेस्ट फायर किया गया. मिसाइल को भारत द्वारा निर्मित की जा रही अरिहंत श्रेणी की परमाणु पनडुब्बियों के बेड़े पर तैनात किए जाने के लिए विकसित किया जा रहा है. भारत इस मिसाइल को परमाणु पनडुब्बियों पर तैनात करने से पहले कई और मिसाइल टेस्ट कर सकता है. फिलहाल, नौसेना की केवल एक न्यूक्लियर बोट आईएनएस अरिहंत चालू है.

K-4 उन दो अंडरवाटर मिसाइल्स में से एक है, जिन्हें DRDO द्वारा विकसित किया जा रहा है. एक और अन्य 700 किलोमीटर से अधिक की मारक क्षमता वाली BO-5 मिसाइल है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकारी सूत्रों ने पहले ही साफ किया था कि k-4 का परीक्षण पानी के नीचे के पंटून से किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: अपनी ही शादी में नहीं पहुंच सका कश्‍मीर में तैनात ये जवान

Related Posts