रांची टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विराट ने जीत का जाल कैसे बिछाया?

विशाखापत्तनम टेस्ट की दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका 191 रन पर सिमट गई. प्रोटीयाज पुणे टेस्ट की पहली पारी में 275 रन पर और दूसरी पारी में 189 रन पर ऑल आउट हो गए. इस मैच की दोनों ही पारियों को मिला दें तो भी दक्षिण अफ्रीका 464 रन ही जोड़ पाई.
विराट कोहली, रांची टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विराट ने जीत का जाल कैसे बिछाया?

रांची टेस्ट के दूसरे दिन टीम इंडिया 9 विकेट के नुकसान पर 497 रन बनाकर पारी घोषित की. दक्षिण अफ्रीका के दो विकेट सिर्फ 9 रन के स्कोर पर गिर चुके हैं. टीम इंडिया को पहली पारी में अभी भी 488 रन की बढ़त है. इतने रन दक्षिण अफ्रीका के कुल 18 विकेट हासिल करने के लिए काफी दिख रहे हैं. क्योंकि विशाखापत्तनम की पहली पारी को छोड़ दें तो पूरे सीरीज में द. अफ्रीका की पूरी टीम 488 के स्कोर तक नहीं पहुंच पाई.

विशाखापत्तनम टेस्ट की दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका 191 रन पर सिमट गई. प्रोटीयाज पुणे टेस्ट की पहली पारी में 275 रन पर और दूसरी पारी में 189 रन पर ऑल आउट हो गए. इस मैच की दोनों ही पारियों को मिला दें तो भी दक्षिण अफ्रीका 464 रन ही जोड़ पाई और अब रांची में भी दक्षिण अफ्रीका जूझती नजर आ रही है.

सिर्फ दक्षिण अफ्रीका ही क्यों, दुनिया के किसी भी टीम के लिए हिंदुस्तान में टीम इंडिया के खिलाफ 400 का आंकड़ा छूना बेहद मुश्किल साबित हो रहा है. 25 मार्च 2017 के बाद से अबतक भारत में विरोधी टीम सिर्फ एक बार ही 400 के पार पहुंची. इस बीच 19 में से 9 पारियों में तो विरोधी टीम 200 रनों का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाई.
विराट का प्लान यही है कि रांची टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका की पारी को भी जल्द से जल्द समेटा जाए. जैसा कि भारतीय गेंदबाजों ने पिछले दो टेस्ट में कर दिखाया है. पिछले 2 टेस्ट में भारतीय गेंदबाजों ने 20 विकेट हासिल किए हैं.

दूसरे दिन ही जीत का प्लान तैयार
रांची टेस्ट के दूसरे दिन विराट कोहली ने जीत की रणनीति तैयार कर ली थी. विराट को इंतजार था तो बस रोहित शर्मा के दोहरे शतक का. जैसे ही विराट ने दोहरा शतक पूरा किया. टीम इंडिया ने रनों की रफ्तार को बढ़ा दिया. टीम इंडिया ने पहली पारी में 4.26 की रनरेट से रन बनाए. उमेश यादव ने महज 10 गेंद पर 31 रन जड़ डाले. 497 पर पारी घोषित करने के बाद टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका के 2 बल्लेबाजों को महज 9 रन पर पवेलियन भेज दिया है. यानी कि अब टीम इंडिया को क्लीन स्वीप के लिए 18 विकेट चाहिए और अगले दो दिन ये 18 विकेट हासिल करने के लिए काफी लग रहे हैं.

Related Posts