राफेल उड़ाएगी महिला फाइटर पायलट, वायु सेना की गोल्‍डन ऐरोज स्‍क्‍वाड्रन में जल्द होगी शामिल

भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) का सबसे खास और ताकतवर लड़ाकू विमान माना जाने वाले राफेल (Rafale) में जल्द ही अब एक महिला फाइटर पायलट (women pilot) उड़ान भरेगी.

भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) का सबसे खास और ताकतवर फाइटर जेट माना जाने वाले राफेल (Rafale) में जल्द ही अब एक महिला फाइटर पायलट (women pilot) उड़ान भरेगी. आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया कि महिला फाइटर पायलट का इन दिनों राफेल की उड़ान को लेकर ट्रेनिंग चल रही है, और जल्द ही वह राफेल की उड़ान भरेगी.

महिला फाइटर पायलट की ट्रेनिंग खत्म होते ही वह गोल्डन एरो स्क्वाड्रन में शामिल होगी.आधिकारिक सूत्रों ने भले महिला फाइटर पायलट के नाम का खुलासा नहीं किया लेकिन बताया कि उनकी ट्रेनिंग चल रही है. वह जल्‍द ही 17 स्‍क्‍वाड्रन का हिस्‍सा बन जाएगी.

राफेल को उड़ाने वाली गोल्‍डन ऐरोज स्‍क्‍वाड्रन में अबतक सिर्फ पुरुष पायलट ही थे. अब उसमें एक महिला फाइटर पायलट शामिल होगी. एयरफोर्स के पास फिलहाल 10 महिला फाइटर पायलट हैं.

वायु सेना में 1875 महिला अधिकारियों में से 10 फाइटर पायलट

रक्षा मंत्रालय ने शनिवार को संसद में बताया कि भारतीय वायुसेना में सेवारत महिला अधिकारियों की कुल संख्या 1875 है और इनमें से 10 फाइटर पायलट हैं जबकि 18 महिला अधिकारी नैवीगेटर हैं. राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित जवाब में रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाईक ने बताया, ‘एक सितंबर, 2020 की स्थिति के अनुसार भारतीय वायुसेना में सेवारत महिला अधिकारियों की संख्या 1875 है. इनमें से 10 महिला अधिकारी फाइटर पायलट हैं और 18 महिला अधिकारी नैवीगेटर हैं’’

उन्होंने बताया कि रक्षा मंत्रालय के अनुमोदन के बाद भारतीय वायुसेना ने वर्ष 2016 में ‘फ्लाइंग ब्रांच की लड़ाकू स्ट्रीम में महिला एसएससी अधिकारियों के प्रवेश’ के लिए एक योजना आरंभ की थी. इसके अंतर्गत अब तक 10 महिला फाइटर पायलटों को कमीशन किया गया है.

वायु सेना की 10 महिला फाइटर पायलट ने अब तक सुखोई-30 एमकेआई, मिग-21, मिग-29 जैसे कई लड़ाकू विमान उड़ा चुके हैं. साल 2016 में केंद्र सरकार की ओर से हरी झंडी मिलने के बाद पहली बार तीन महिला फाइटर पायलट बनीं. उल्लेखनीय है कि जून 2016 में पहली बार तीन महिला फाइटर पायलट भावना कंठ, अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह को भारतीय वायु सेना के लड़ाकू बेड़े में शामिल किया गया था.

Related Posts